विशेष - आज का इतिहास : देश को मिला एक प्रसिद्ध खलनायक, 250 फ़िल्मों में दर्ज धमाकेदार उपस्थिति

आज का इतिहास : देश को मिला एक प्रसिद्ध खलनायक, 250 फ़िल्मों में दर्ज धमाकेदार उपस्थिति



Posted Date: 01 Sep 2018

65
View
         

कृष्ण निरंजन सिंह का जन्म 1 सितंबर, 1908, देहरादून में हुआ था। ये भारतीय सिनेमा के खलनायक अभिनेता थे। के. एन. सिंह ने लगभग 250 फ़िल्मों में धमाकेदार उपस्थिति दर्ज करायी हैं। उनके पिता चंडी दास एक जाने-माने वकील (क्रिमिनल लॉएर) थे और देहरादून में कुछ प्रांत के राजा भी थे।

इन्हें के. एन. सिंह के नाम से भी जाना जाता है। कृष्ण निरंजन भी उनकी तरह वकील बनना चाहते थे लेकिन अप्रत्याशित घटना चक्र उन्हें फ़िल्मों की ओर खींच ले आया। मंजे हुए अभिनय के बल पर के. एन. सिंह एक चरित्र अभिनेता बने व विलेन के रूप में स्थापित हुए।

सुनहरा संसार (1936) इनकी पहली फ़िल्म थी। बागवान (1936) में इनका नेगेटिव रोल था। जनता को यह भूमिका बहुत भायी व लंबे समय तक विलेन के रूप में उनके नाम पर मोहर लग गई। इनकी मृत्यु 31 जनवरी, 2000 को देहरादून में हुई।

आज का इतिहास

1 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1939 - जर्मनी का पौलेंड पर आक्रमण करने के साथ ही द्वितीय विश्व युद्ध शुरु हुअा।

1964 - इंडियन ऑयल रिफ़ाइनरी और इंडियन ऑयल कम्पनी को विलय करके इंडियन ऑयल कॉपरेशन बनाई गयी।

1947 - भारतीय मानक समय को अपनाया गया।

1956 - भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की स्थापना हुई।

1956- राज्‍यों के पुनर्गठन के बाद त्रिपुरा केंद्रशासित प्रदेश बना।

1962 - महाराष्ट्र के कोल्हापुर में शिवाजी विश्वविद्यालय की स्थापना हुयी।

1994 - उत्तरी आयरलैंड में आयरिन रिपब्लिकन आर्मी ने युद्ध विराम लागू किया।

1997 - साहित्यकार महाश्वेता देवी तथा पर्यावदणविद एम.सी. मेहता को 1997 का रेमन मैग्सेसे पुरस्कार प्रदान किया गया।

1998 - विक्टर चेर्नोमीर्दिन पुन: रूस के नये प्रधानमंत्री नियुक्त।

2000 - चीन ने तिब्बत होते हुए नेपाल जाने वाले अपने एकमात्र रास्ते को बंद किया।

2003 - लीबिया और फ़्रांस के बीच यूटीए विमान पर 1989 में हुई बमबारी में मारे गये लोगों के निकट सम्बन्धियों को मुआवजा देने के बारे में समझौता।

2004 - पाकिस्तान के एक मानवाधिकार विशेषज्ञ मेहर ख़ान विलियम्स को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने उप उच्चायुक्त नियुक्त किया।

2005 - सद्दाम हुसैन ने सशर्त रिहाई की अमेरिकी पेशकश ठुकराई।

2006 - एग्जिट पोल के जनक और टेलिफ़ोन सर्वे में सैपलिंग मेथड विकसित करने में मददगार वाडेन मिटोफ़्स्की का न्यूयार्क में निधन।

2007 - फिजी के अपदस्थ प्रधानमंत्री लाइसेनिया करासे नौ महीने बाद राजधानी सुवा लौटे।

2008- वित्तमंत्री पी. चिदम्बरम ने डी. सुब्बाराव को भारतीय रिज़र्व बैंक के 22वें गर्वनर के रूप में नियुक्ति की घोषणा की।

यूनियन बैंक ऑफ़ इण्डिया ने अपना ‘लोगो’ बदला।

2009- वायस एडमिरल निर्मल कुमार वर्मा को भारतीय नौसेना के प्रमुख नियुक्त किया गया। उन्होंने एडमिरल सुरेश मेहता का स्थान लिया।

सर्वोच्च न्यायालय में जसवंत सिंह की किताब पर गुजरात में प्रतिबंध लगाए जाने के मामले में राज्य सरकार को नोटिस दिया। लेफ्टिनेंट जनरल पी. सी. भारद्वाज सेना के उपप्रमुख बने।

1 सितंबर को जन्मे व्यक्ति

1901 - लक्ष्मी नारायण उपाध्याय - एक जानेमाने भूगोलवेत्ता थे।

1895 - चेमबइ वैद्यनाथ भगवतार- भारतीय संगीतकार

1886 - के. पी. केशव मेनन - मालाबार के प्रमुख कांग्रेसी नेता तथा समाज सुधारक थे।

1909 - फ़ादर कामिल बुल्के - प्रसिद्ध साहित्यकार, जिनका जन्म बेल्जियम की फ्लैंडर्स स्टेट के 'रम्सकपैले' गांव में हुआ था।

1947 - पी. ए. संगमा - भारत के राजनीतिज्ञों में से एक थे।

1977 - आमिर अली, भारतीय टेलीविजन अभिनेता

1973 - राम कपूर, भारतीय अभिनेता

1970 - पद्मा लक्ष्मी- भारतीय अभिनेत्री

1949 - पी. ए. संगमा- भारतीय राजनीतिज्ञ

राधा मोहन सिंह - भारतीय जनता पार्टी के वर्तमान केंद्रीय कृषि मंत्री।

1933 -दुष्यंत कुमार, हिन्दी के कवि और ग़ज़लकार

1930 - चार्ल्स कोरिया - भारतीय वास्तुकार और शहरी नियोजक थे।

1921 - माधव मंत्री - भारतीय क्रिकेटर

1923 - हबीब तनवीर- मशहूर पटकथा लेखक, नाट्य निर्देशक, कवि और अभिनेता

1926 -विजयदान देथा, राजस्थानी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार

1927 -राही मासूम रज़ा - बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी और प्रसिद्ध साहित्यकार।

1901 - लक्ष्मी नारायण उपाध्याय - प्रसिद्ध भारतीय भूगोलविद।

1896 - भक्तिवेदान्त स्वामी प्रभुपाद - प्रसिद्ध गौड़ीय वैष्णव गुरु तथा धर्मप्रचारक थे।

1908 - के. एन. सिंह - भारतीय सिनेमा के खलनायक अभिनेता।

1 सितंबर को हुए निधन

1942 - वैकटा रेड्डी नायडू - एक शिक्षक, अधिवक्ता और तमिलनाडु के ब्राह्मण विरोधी नेता थे।

1574 - गुरु अमरदास - सिक्खों के तीसरे गुरु, जो 73 वर्ष की उम्र में गुरु नियुक्‍त हुए थे।

1 सितंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

गुटनिरपेक्ष दिवस

राष्ट्रीय पोषाहार दिवस (सप्ताह)


BY : Ankit Rastogi


Loading...





Loading...
Loading...