आजमगढ़ - सड़क में गढढ़ा या गढ्ढ़े वाली सड़क! कुछ ऐसी स्थिति है आजमगढ़-वाराणसी मार्ग की

सड़क में गढढ़ा या गढ्ढ़े वाली सड़क! कुछ ऐसी स्थिति है आजमगढ़-वाराणसी मार्ग की



Posted Date: 25 Aug 2018

27
View
         

आज़मगढ़। आज़मगढ़ से वाराणसी तक की सड़क कई स्थानों से उखड़ गई है। जगह-जगह गढढ़े हो गए हैं। मार्ग का सफर किसी जंग से कम नहीं है। लोगों की परेशानी अब और बढ़ गई है। कारण, सड़क इस वक्त पूरी तरह गढढ़े में तबदील हो चुकी है।

खबरों के मुताबिक आजमगढ़ से वाराणसी तक का मार्ग पूरी तरह जर्जर हो गया है। बरसात की वजह से गढढ़े छोटे तालाब जैसे दिख रहे हैं। आए दिन इसमें गाड़ियां फंस रही हैं। घंटो जाम लग रहा है। लोक निर्माण विभाग की मशीनरी यहां पूरी तरह फेल है। यात्रियों को परेशानियां तो हो ही रही हैं और इसका खामियाजा रोडवेज भी उठा रहा है।

बता दें कि मार्ग जर्जर होने से यात्रियों की संख्या घट गई है वहां की बसें पहले से ही खराब थी, अब मार्ग जर्जर होने के कारण और खराब हो गई हैं। इसे सही कराने में लाखों की चपत लग रही है।

पहले प्रतिदिन 30 से 35 हजार लोग यात्रा करते थे, अब यात्रियों की संख्या भी 20 से 25 हजार हो गई है। इतना ही नही प्रतिदिन होने वाली 15 लाख की आमदनी भी 11 से 12 लाख रूपए के आस-पास हो गई है। इसका मुख्य कारण यह बताया जा रहा है कि लोग आराम से अपने प्राइवेट वाहनों से सफर तय कर लेते हैं।

रोडवेज प्रशासन आजमगढ़ वाया वाराणसी व आजमगढ़ वाया गोरखपुर मार्ग की जर्जर स्थिति को कई बार उच्चस्तरीय बैठक में उठा चुका है। फोरलेन निर्माण की बात कहकर मामला टाल दिया जाता था।

इसी क्रम में मामले को लेकर अब रोडवेज प्रशासन, शासन को पत्र लिखने की तैयारी में है।

मार्ग खराब होने के कारण फुटपाथ तक दुकानदारों का कब्जा है। संकरे मार्ग पर बामुश्किल से दो गाड़ियां निकल पाती हैं। वहीं लबे रोड ठेला, खोमचे पर दुकानदार दुकाने फैला चुके हैं। मार्ग से दो तीन फिट तक के गढढ़े हो चुके हैं। यात्री अपनी जान को जोखिम में डालकर इस मार्ग से यात्रा कर रहे हैं।

रानी सराय तक आए दिन लगने वाले जाम को लेकर भी प्रशासन गंभीर नहीं है। पुलिस पूरी तरह से बेपरवाह है। 13 किलोमीटर दूर की यात्रा के लिए भी महज 1 घंटे का समय लोगों को जाया करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें : प्यार में युवती ने खाया धोखा, प्रेमी ने पहले किया शारीरिक शोषण, फिर कराया गर्भपात

बता दें आज़मगढ़ से वाराणसी की यात्रा भी तीन घंटे की बजाय अब बढ़कर चार से साढ़े चार घंटे तक हो गई है। मार्ग की स्थिति जर्जर होने से रोडवेज को काफी हानि हो रही है।

रोडवेज प्रशासन, शासन को पत्र लिखकर मामले को रखेगा ताकि यात्रियों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो।

यह भी पढ़ें : कार और ट्रक की भीषण टक्कर, दो युवकों की मौत

 

 

 


BY : Abdul Mannan


Loading...





Loading...
Loading...