आजमगढ़ - स्मार्ट कोच के साथ आजमगढ़ पहुंची कैफियात एक्सप्रेस, जाने किया हैं खूबियां

स्मार्ट कोच के साथ आजमगढ़ पहुंची कैफियात एक्सप्रेस, जाने किया हैं खूबियां



Posted Date: 31 Aug 2018

32
View
         

आज़मगढ़। देश में बने पहले स्मार्ट कोच को ट्रायल के तौर पर जिले से संचालित कैफियात एक्सप्रेस में लगाया गया है। गुरूवार को कैफियात नए कोच के साथ स्टेशन पर पहुंची। इस कोच को देखने के लिए यात्रियों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। इस कोच की खासियत यह है कि यह बताएगा कि कोच में पानी की स्थिति क्या है, एसी ठीक से कार्य कर रहा है या नहीं, ट्रेन के एक्सल में कहीं कोई खराबी तो नहीं है।

रेल अधिकारी का कहना है कि भारतीय रेल ने देश का पहला स्मार्ट कोच बनाया है। जिसे कैफियात एक्सप्रेस में ट्रायल के लिए लगाया गया है। उन्होंने कहा कि यह सफल रहा तो इस तरह के कोच सभी प्रीमियम ट्रेनों में लगाए जाएंगे।

गुरूवार को जब दिल्ली से कैफियात एक्सप्रेस (12226 डाउन ट्रेन) आज़मगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंची तो स्मार्ट कोच को देख यात्रियों की भीड़ एकत्र हो गई। हर कोई इसकी खासियत को देखने के लिए आतुर दिखा।

हालांकि कोई भी वहां पर उन्हें इस बारे में बताने वाला नहीं था क्योंकि वहा पर मौजूद किसी को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

रेलवे जनसंपर्क अधिकारी अशोक श्रीवास्तव ने बताया कि हाईटेक तकनीकी से लैस इस कोच का निर्माण किया गया है। इसे ट्रायल के तौर पर कैफियास एक्सप्रेस में दिल्ली से ही जोड़ा गया है। इसका ट्रायल सफल रहने पर इस कोच को लगाने की योजना है।

यह भी पढ़ें: लापरवाही बरतने पर चला एसपी का डंडा, दरोगा-दीवान सस्पेंड

रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव ने बताया कि ट्रेन में लगा सेंसर इस बात का अनुमान लगाएगा कि जिन जगहों से होकर रेल का डिब्बा गुजर रहा है। वहां की पटरी सही है या नहीं। अगर पटरी में कोई परेशानी है तो वहां से गुजरने पर यह सेंसर इसकी जानकारी रेलवे को दे देगा।

यह भी पढ़ें: फिर लटका आर्टिकल 35 ए का मामला, जनवरी में होगी अगली सुनवाई

कोच में हैं ये सुविधाएं

यात्री सूचना प्रणाली यात्रियों को ट्रेन के अगले स्टेशन के बारे में सूचित करेगी और अगले स्टेशन पर आने का अपेक्षित समय भी दर्शाएगी। यह प्रणाली ट्रेन की गति भी दिखा सकती है। जलस्तर सूचक पानी के रीफिङ्क्षलग की जरूरत के बारे में एसएमएस के माध्यम से रखरखाव कर्मचारियों को पहले ही सूचना दे सकता है।

उच्चतम क्वालिटी के सीसीटीवी रेल यात्रियों की सुरक्षा में रहेंगे और ऑन.बोर्ड रेलवे कर्मचारियों के व्यवहार और गतिविधियों की निगरानी भी करेंगे।

सीसीटीवी की फुटेज यात्रा के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की जांच और अपराधियों की पहचान करने में रिमोट कंट्रोल सेंटर से सीधे हस्तक्षेप करते हुए मदद करेगा।

कोच, रेलयात्रियों (विशेष रूप से महिलाएं और बच्चे) और ट्रेन के गार्ड के बीच संचार के लिए आपातकालीन टॉक बैक सिस्टम भी प्रदान किया गया है ताकि जरूरी सहायता प्रदान की जा सके। कोच में वाई.फाई हॉट.स्पॉट की सुविधा भी दी गई है।


BY : Abdul Mannan


Loading...





Loading...
Loading...