अंतरराष्ट्रीय - गजब! उम्र 80 साल लेकिन गणित के एक फॉर्मूले के जरिए लॉटरी में जीते 200 करोड़ रुपए, अब बनेगी फिल्म

गजब! उम्र 80 साल लेकिन गणित के एक फॉर्मूले के जरिए लॉटरी में जीते 200 करोड़ रुपए, अब बनेगी फिल्म



Posted Date: 05 Feb 2019

2662
View
         

वॉशिंगटन। लोग अक्सर यही कहते हैं कि लॉटरी खेलने वाले अक्सर बर्बाद हो जाते हैं और अपना सबकुछ लुटा देते हैं। लेकिन जब आप अमेरिका में रहने वाले जेरी और मार्जी के बारे में सुनेंगे तो आप भी कहेंगे कि लॉटरी खेलना कोई बुरी बात नहीं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह रिटॉयर्ड कपल लॉटरी के सहारे ही अरबों रुपए जीत चुका है और अब उनको लेकर फिल्म भी बनाने की तैयारी चल रही है।

चलाते हैं मामूली सा स्टोर

यह रिटायर्ड कपल यहां पर एक कन्वीन्यन्स स्टोर चलाते हैं और इस कपल का कहना है कि उन्होंने गणित फॉर्मूले के सहारे लॉटरी सिस्टम की खामी का फायदा उठाते हुए यह पैसे जीते हैं। वहीं इनकी दिलचस्प कहानी पर अब जल्द ही एक हॉलीवुड फिल्म भी बन सकती है। जैरी के पास मैथ्स की डिग्री है। कपल का कहना है कि यह बेसिक अंकगणित का खेल है। जिसके जरिए उन्होंने लॉटरी में 200 करोड़ रुपए की राशि जीती है।

जेरी की उम्र वर्तमान में 80 साल है। उन्होंने मार्जी से लव मैरिज की थी। जिसके बाद अभी उनके 14 पोते पोतियां हैं। लॉटरी की रकम से ही वह अपने पोते पोतियों की पढ़ाई का खर्च उठा रहे हैं। जेरी के मुताबिक उन्होंने सबसे पहले 2003 में इसकी शुरुआत की थी। उस समय उन्हें विनफॉल नाम के लॉटरी गेम के बारे में पता चला था। उन्होंने उसी समय ही इस खेल में खामी ढूंढ ली थी। जिसके बाद उन्होंने गणित फॉर्मूले के जरिए यह कमाल किया।

जेरी के मुताबिक यह लॉटरी गेम रॉल डाउन फीचर के साथ आता है। जिसमें अगर किसी को भी जरूरी छह अंक नहीं मिलते तो पैसा उसके आसपास पहुंचने वाले लोगों में बंटता है। ऐसे में जिन लोगों ने तीन और चार अंकों तक सही अनुमान लगाया हो तो उन्हें वह पैसा मिल सकता है। जिसके बाद उन्होंने गुणाभाग किया और यह अनुमान लगाया कि वह इस लॉटरी के खेल में पैसे जीत सकते हैं। हालांकि शुरुआत में उन्हें 50 डॉलर का नुकसान हुआ लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी।

इसके बाद उन्होंने फिर से 3600 डॉलर यानी लगभग 2.57 लाख रुपए के लॉटरी टिकट खरीदे। इस बार उनकी किस्मत चमक उठी और उन्होंने एक के बाद एक कर लाखों रुपए जीत लिए। जिसके बाद उन्होंने अपनी पत्नी और बच्चों के साथ एक इनवेस्टमेंट कंपनी खोल ली। जिसके जरिए सभी लोग मिलकर हजारों टिकट खरीद लेते थे। जिसके जरिए जेरी ने अपने परिवार की मदद से कुल 57 करोड़ रुपए कमाए। लेकिन इसके बाद विनफॉल लॉटरी बंद हो गई।

यह भी पढ़ें : समझौता : दक्षिण कोरिया में 30 हजार सैनिकों की होगी तैनाती

हालांकि जेरी ने पता लगाया तो उन्हें मेसाच्यूसेट में ऐसे ही लॉटरी गेम के बारे में पता चला और वह अपना परिवार लेकर वहां चले गए। जहां पर इन्होंने लगातार छह साल तक करोंड़ों रुपए कमाए। हालांकि जेरी और मार्टी के इस फॉर्मूले के बारे में जब कंपनी को शक हुआ तो यह लॉटरी बंद हो गई और उनके खिलाफ जांच शुरू कर दी गई। लेकिन जेरी ने यह पैसे जीतने के लिए कोई गलत रास्ता नहीं अपनाया था। इसलिए जांच में उन्हें क्लीन चिट दी गई।  

यह भी पढ़ें : कुंभ : प्रयागराज के सामने टोक्यो और शंघाई भी पड़े फीके, इस मामले में बढ़ाया देश का गौरव


BY : Ankit Rastogi




Loading...




Loading...