अंतरराष्ट्रीय - अमेरिका को खटक गया इस देश के साथ भारत का बढ़ता याराना, दी ये बड़ी चेतावनी

अमेरिका को खटक गया इस देश के साथ भारत का बढ़ता याराना, दी ये बड़ी चेतावनी



Posted Date: 30 Jul 2018

20
View
         

वाशिंगटन। पेंटागन के एक शीर्ष अधिकारी ने भारत को आगाह किया है कि रूस से हथियारों की खरीद करने पर उसे अमेरिका से विशेष छूट मिलने की कोई गारंटी नहीं होगी। वाशिंगटन इस बात को लेकर चिंतित है कि भारत अपने पुराने सहयोगी देश रूस से जमीन से हवा में लंबी दूरी की मारक क्षमता रखने वाली मिसाइल-रोधी प्रणाली एस-400 सहित अन्य हथियारों की खरीद कर रहा है।

विदित हो कि 2016 में गोवा में हुए ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर भारत और रूस के शीर्ष नेताओं ने इस वायु रक्षा मिसाइल प्रणाली के लिये समझौते पर हस्ताक्षर किये थे। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया रूस दौरे के दौरान इस सौदे को अंतिम रूप दिया गया और इसकी कीमत को लेकर दोनों पक्षों में सहमति बन गई। एस-400 की पांच यूनिटों की खरीद को लेकर भारत और रूस लगभग एक वर्ष से बातचीत कर रहे थे और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच इसी वर्ष अक्तूबर में होने वाली वार्षिक शिखर वार्ता के दौरान इस सौदे को अंतिम रूप दिये जाने की संभावना है।

रूस के खिलाफ अमेरिका के मौजूदा नियमों के तहत यदि कोई देश रूस से रक्षा या खुफिया विभाग के क्षेत्रों में कोई लेन-देन या सौदे करता है तो उसे अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा। लेकिन, रक्षा मंत्री जिम मैटिस के प्रयासों के बाद अमेरिकी संसद ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री को रूस के साथ सौदा करने वाले सहयोगी देशों को प्रतिबंधों से छूट देने का अधिकार दे दिया।

यह भी पढ़ेआज का इतिहास : देश को मिला हिंदी जगत का एक प्रमुख साहित्यकार

पेंटागन में एशिया और प्रशांत सुरक्षा मामलों के सहायक मंत्री रैंडल श्रीवर ने कहा, दोनों देशों के बीच ऐसे संबंध है कि भारत को छूट मिलेगी ही लेकिन मैं यह नहीं कह सकता कि उन्हें छूट मिलेगी ही और उन्हें प्रतिबंधों में ढील मिलेगी।

यह भी पढ़ेहर घर तक पहुंच गई बिजली... फिर भी अंधेरे में गुजर कर रहे करोड़ों परिवार!


BY : ANKIT SINGH


Loading...





Loading...
Loading...