राष्ट्रीय - राफेल पर मचा घमासान, जेटली को राहुल के चैलेंज पर अमित शाह ने दिया ये जवाब

राफेल पर मचा घमासान, जेटली को राहुल के चैलेंज पर अमित शाह ने दिया ये जवाब



Posted Date: 30 Aug 2018

27
View
         

नई दिल्ली। राफेल डील मामले को लेकर कांग्रेस व बीजेपी के बीच राजनीतिक बयानबाजी का दौर बदस्तूर जारी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस डील को लेकर लगातार बीजेपी समेत पीएम नरेंद्र मोदी पर हमलावर हैं। राहुल के इन हमलों पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक इंटरव्यू में उन्हें जवाब देते हुए कहा था कि कांग्रेस ने हमेशा ही देश की सुरक्षा-व्यवस्था के साथ समझौता किया है। इसके अलावा जेटली ने अपने ब्लॉग के जरिए कांग्रेस समेत राहुल पर 15 सवाल भी दागे थे। जेटली के इस वार पर पलटवार करते हुए राहुल ने उन्हें राफेल डील मामले की जांच संसद की संयुक्त समिति (जेपीसी) से करवाने की चुनौती दी है। राहुल ने इसके लिए उन्हें 24 घंटे के अंदर जवाब देने को कहा है। राहुल की इस चुनौती पर जेटली से पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें जवाब देते हुए जेपीसी का मतलब झूठी पार्टी कांग्रेस बता डाला है।

राहुल ने जेटली को धन्यवाद देते हुए किया ये ट्वीट

राफेल मामले पर जेटली के बयान के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया है। राहुल ने अपने ट्वीट में उन्हें धन्यवाद देते हुए लिखा कि देश का ध्यान ‘राफेल रॉबरी’ की तरफ लाने के लिए जेटली का धन्यवाद। क्या राफेल डील की जांच संसद की संयुक्त समिति से कराई जाए ? इस पर आपको क्या कहना है? लेकिन इस जांच से आपके सुप्रीम लीडर को परेशानी है क्योंकि वह अपने दोस्तों का बचाव कर रहे हैं। यह जांच उनके लिए असुविधाजनक हो सकती है। आप हमें इसका जवाब 24 घंटे में दें, हम प्रतीक्षा कर रहे हैं।

राहुल की चुनौती का शाह ने दिया कुछ इस तरह जवाब

राहुल गांधी के 24 घंटे की चुनौती पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें ट्वीट करते हुए जवाब दिया है। शाह ने अपने ट्वीट में लिखा कि 24 घंटे का इंतजार क्यों करना जब आपके पास अपनी जेपीसी- झूठी पार्टी कांग्रेस है। देश को मूर्ख बनाने वाले आपके झूठ स्वप्रमाणित हैं, जब आप दिल्ली, कर्नाटक, रायपुर, हैदराबाद, जयपुर और संसद में राफेल की अलग-अलग कीमत बताते हैं लेकिन देश की बुद्धिमत्ता आपसे ज्यादा है।

शाह के बाद जेटली ने भी दिया राहुल को जवाब

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की इस चुनौती के जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ताबड़तोड़ तीन ट्वीट दाग दिए। जेटली ने ट्वीट में लिखा कि आपने राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में किए गए राफेल सौदे पर मेरे सवालों का जवाब देने का प्रयास नहीं किया राहुल जी, कोई जवाब नहीं दिया गया, जाहिर है झूठ का सहारा लेने वाले जवाब दे भी नहीं सकते। राहुल जी, सत्य बांधता है, जबकि असत्य बिखर जाता है, यही हश्र राफेल पर आपके झूठ का होगा। आपको याद दिला दूं कि 1987 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने शंकरानंद जी की अध्यक्षता में बोफोर्स सौदे पर जेपीसी का गठन किया था। जिसकी रिपोर्ट में रिश्वतखोरी के आरोप को खत्म कर दिया गया। पूरी दुनिया ने जेपीसी के निष्कर्ष को खारिज किया। असत्यता को तृप्त करने के लिए जेपीसी क्यों?

यह भी पढ़ें : आतंक की जड़ें उखाड़ने के लिए पीएम मोदी ने किया इस हिन्दू राष्ट्र का रुख, 7 देशों के साथ होगी ये महत्वपूर्ण बैठक

आपको बता दें कि जेटली ने बुधवार को अपने ब्लॉग के जरिए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने राहुल गांधी से ब्लॉग के जरिए 15 सवाल पूछे थे। जेटली ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि राफेल मामले पर कांग्रेस खुद कंफ्यूज है, वह लगातार अलग-अलग बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने लिखा कि कांग्रेस के पास इस डील को लेकर सरकार पर इल्जाम लगाने का कोई आधार ही नहीं है। वह बेवजह ही सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसके बाद ही इस मामले को लेकर दोनों तरफ से आरोप-प्रत्यारोप की राजनीतिक बयानबाजी का दौर शुरु हो गया है।

यह भी पढ़ें : शिवपाल ने किया समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का गठन, इन नेताओं से किया जुड़ने का आह्वान


BY : INDRESH YADAV


Loading...





Loading...
Loading...