राष्ट्रीय - अभिव्यक्ति की आज़ादी पर नहीं बोलने दिया गया बॉलीवुड अभिनेता को, प्रोग्राम के बीच में ही छोड़ना पड़ा मंच

अभिव्यक्ति की आज़ादी पर नहीं बोलने दिया गया बॉलीवुड अभिनेता को, प्रोग्राम के बीच में ही छोड़ना पड़ा मंच



Posted Date: 10 Feb 2019

3710
View
         

मुंबई। बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर अभिनेता अमोल पालेकर मुबंई में एक प्रोग्राम में भाषण दे रहे थें। हॉल खचाखच भीड़ से भरा था और उनके भाषण के दौरान सन्नाटा पसरा हुआ था। तभी आमोल पालेकर ने आर्ट गैलरी की स्वतंत्रता पर चिंता ज़ाहिर करते हुए सरकारी सेंसरशिप के खिलाफ सवाल खड़े किये तो उनके बीच में ही रोक दिया गया। यह कार्यक्रम नेशनल गैलरी ऑफ आर्ट की तरफ से कलाकार प्रभाकर बर्वे की याद में आयोजित किया गया था।

अपने भाषण के दौरान पालेकर ने कहा कि अक्टूबर 2018 के तक नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट की एक सक्रिय सलाहकार समिति थी जिसमें स्थानीय कलाकारों का प्रतिनिधित्व होता था। अब इस समिति को सीधे संस्कृति मंत्रालय नियंत्रित करता है। इसी बीच उन्हें टोका जाने लगा लेकिन उन्होंने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा कि एनजीएमए कलात्मक अभिव्यक्ति और विविध कलाओं को देखने का पवित्र स्थान है जिस पर निंयत्रण किया जा रहा है। यह मानवता के खिलाफ युद्ध की तरह है जिससे मैं काफी ज़्यादा आहत हूं। सबसे ज़्यादा परेशान करने वाली बात यह है कि एकतरफा लागू होने वाले इन आदेशों का विरोध नहीं किया जाता है।

यह भी पढ़ें.. शारदा चिटफंड घोटाला : TMC के पूर्व सांसद को CBI ने किया तलब, राजीव कुमार से पूछताछ जारी

भाषण के दौरान जब टोकने से वह नहीं रुके तो शो क्यूरेट जेसल थैकर ने विरोध जताया फिर भी पालेकरन ने नयनतारा सहगल का उदाहरण दिया जिन्हें एक लिट्रेचर इवेंट में बुलाया गया था लेकिन राजनीतिक माहौल पर भाषण नहीं देने दिया गया था। लगातार विरोध और टोका-टाकी के कारण अमोल पालेकर अपना भाषण पूरा नहीं कर सके और उन्हें मंच छोड़कर जाना पड़ा।

दूसरी तरफ शो की क्यूरेट ने एक समाचार पत्र को बताया कि पालेकर को इसलिए रोका गया क्योंकि यह आयोजन आदर्शवादी चित्रकार प्रभाकर बर्वे की याद में आयोजित किया गया था और उसका उद्देश्य उनके बारे में लोगों को जानकारी देना था बस उनका सम्मान बनाए रखने की कोशिश में अमोल पालेकर को कहा गया था कि वह बर्वे से संबधित उनकी यादों को साझा करें।

यह भी पढ़ें.. शराबकांड: 108 लोगों की मौत के बाद हरकत में आयी सरकारें, शराब माफियाओं समेत पुलिसकर्मियों पर भी गिरी गाज


BY : Saheefah Khan




Loading...




Loading...