राजनीति - गुजरात में कांग्रेस से टूटा एक और विधायक, 4 दिन में 3 ने छोड़ी पार्टी

गुजरात में कांग्रेस से टूटा एक और विधायक, 4 दिन में 3 ने छोड़ी पार्टी



Posted Date: 11 Mar 2019

5
View
         

जामनगर। यहां होनेवाली कांग्रेस कार्यकारी समिति की बैठक और रैली से एक दिन पहले पार्टी को एक और झटका लगा है। एक और कांग्रेस विधायक ने सोमवार को पार्टी छोड़ दी और विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। बैठक से एक दिन पहले सोमवार को जामनगर (ग्रामीण) से विधायक वल्लभ धारविया ने पार्टी छोड़ दी। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को सोमवार दोपहर को इस्तीफा सौंप दिया।

सूत्रों के मुताबिक, धारवरिया भी सत्तारूढ़ बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। त्रिवेदी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा, धारविया ने जामनगर (ग्रामीण) के विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने मुझे बताया कि वह स्वेच्छा से इस्तीफा दे रहे हैं।

धारविया के इस्तीफे से पहले उनकी पार्टी के पूर्व सहयोगी परषोत्तम सबारिया ने आठ मार्च को ध्रांगधरा विधायक के पद से इस्तीफा दे दिया था। वह सत्तारूढ़ बीजेपी में शामिल हो गए थे। सबारिया को सिंचाई घोटाले के संबंध में गत वर्ष अक्टूबर में गिरफ्तार किया गया था और गुजरात हाईकोर्ट से उन्हें फरवरी में जमानत मिली थी।

आठ मार्च को माणवदर से कांग्रेस विधायक जवाहर चावड़ा ने भी विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था और वह भी भाजपा में शामिल हो गए थे। उन्हें नौ मार्च को विजय रुपाणी सरकार में मंत्री बनाया गया था। पिछले कुछ महीने में गुजरात में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों की संख्या पांच हो गई है। इन पांच विधायकों के अलावा कांग्रेस ने एक और विधायक गंवा दिया जब भगवान बराड़ को पांच मार्च को सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित कर दिया गया। उन्हें अवैध खनन मामले में दो साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। पिछले साल जुलाई में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक कुंवरजी बावलिया ने भी इस्तीफा दे दिया था और उन्हें बाद में राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया। वह तब भाजपा के टिकट पर उपचुनाव जीते थे।

लोकसभा चुनाव में दिखेगा राहुकाल का असर, ज्योतिषों ने की यह भविष्यवाणी

पिछले महीने उंझा से पहली बार विधायक बनी आशा पटेल ने सदन और कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था और वह सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल हो गई थीं। भाजपा के पास अब 182 सदस्यीय विधानसभा में 100 विधायक हैं जबकि कांग्रेस के पास 71 विधायक हैं।

अब अगर ‘NAMO AGAIN’ लिखकर किया ‘सेना के शौर्य को नमन’ तो होगी कार्यवाई


BY : Ankit Singh




Loading...




Loading...