आजमगढ़ - ‘इस बार छात्रों की पुकार-कब सुनेगी सरकार’, कहा- विश्वविद्यालय नहीं तो होगा वोट का बहिष्कार

‘इस बार छात्रों की पुकार-कब सुनेगी सरकार’, कहा- विश्वविद्यालय नहीं तो होगा वोट का बहिष्कार



Posted Date: 06 Feb 2019

1765
View
         

आज़मगढ़। विश्वविद्यालय की मांग को लेकर छात्रों का आंदोलन निरंतर उग्र होता जा रहा है। अब छात्रो की ओर से निर्णय लिया गया है कि यदि सरकार के कान में जूं नहीं रेंगती और विश्वविद्यालय बनवाने का आश्वासन नहीं मिलता तो छात्र एवं युवा लोकसभा चुनावों का पूर्ण रुप से बहिष्कार करेंगे।

राज्य आवासीय विश्वविद्यालय की मांग को लेकर 33वें मंगलवार को भी अनिश्चितकालीन क्रमिक अनशन जारी रहा। इंस्टीट्यूट ऑफ फाइन आर्ट और पालीटेक्निक के छात्रों ने अनशन का समर्थन किया। इसके साथ ही ऐलान किया कि अगर विश्वविद्यालय नहीं मिला तो वो मतदान का बहिष्कार करेंगे।

निदेशक संजय कुमार रॉय ने कहा कि जनपद में विश्वविद्यालय की मांग की अवहेलना करना सही नहीं है। शिक्षा के हित में विवि की स्थापना होनी ही चाहिए। संजय श्रीवास्तव, अभय सिंह यादव, शिवम सिंह, प्रखर सिंह, आशुतोष कुमार, अरविंद कुमार पाण्डेय ने कहा कि विवि नहीं मिलने पर वोट का बहिष्कार किया जाएगा।

 

यह भी पढ़ें.. पुलिस को गाली देने वाले बीजेपी नेता हिरासत में, पार्टी ने किया छह वर्ष के लिए निष्कासित

इस मौके पर सचिन कुमार, शिवानन्द यादव, विमला यादव, आभा श्रीवास्तव, सतीश कुमार यादव, रमेश सिंह, ओंकार प्रजापति, आर्ष राय, हरिप्रसाद, श्यामबली यादव, रामजियावन यादव, राजाराम मौर्य, रामनारायण यादव, बृजलाल, कमलेश यादव, शम्भूनाथ राय, इंद्रजीत यादव उपस्थित रहे।

जनपदवासियों की सबसे बड़ी मांग विश्वविद्यालय की ही है। लोगों को आशा थी कि सपा सरकार ने उनकी जिस आशा को पूरा नहीं किया उसे भाजपा सरकार जरूर पूरा करेगी। लेकिन अब लोगों के सब्र का बांध टूट रहा है। इसके लिए कई आंदोलन हुए लेकिन सरकार ने नहीं सुनी। लेकिन जैसे जैसे चुनाव करीब आ रहे लोगों में रोष बढ़ता जा रहा है। जनपद वासी सरकार से जनपद में एक राज्य आवासीय विश्वविद्यालय की स्थापना किए जाने की आस लगाए हुए हैं।

यह भी पढ़ें.. जाती हुई सर्दी ने शुरु कर दी लुका-छिपी, सुबह पहले धूप निकली फिर कोहरे में लिपट गया पूरा शहर


BY : Saheefah Khan




Loading...




Loading...