राष्ट्रीय - बीजेपी का राहुल को जवाब, आपके ‘महान दादाजी’ ने ही चीन को ईनाम स्वरुप दी थी UNSC सीट

बीजेपी का राहुल को जवाब, आपके ‘महान दादाजी’ ने ही चीन को ईनाम स्वरुप दी थी UNSC सीट



Posted Date: 14 Mar 2019

18
View
         

नई दिल्ली। चीन की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने से बचाए जाने के बाद भारत में राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस बावत नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि मोदी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से डरते हैं क्योंकि जब चीन भारत के खिलाफ कोई एक्शन लेता है तो प्रधानंत्री कुछ भी नहीं बोलते हैं। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष के आरोप पर बीजेपी ने तीखा पलटवार किया है।

बीजेपी ने ट्वीट के जरिए राहुल को दिया जवाब

बीजपी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आज चीन यूएनएससी का हिस्सा ही नहीं होता, अगर आपके ग्रेट ग्रैंडफादर चीन को उसे ये सीट तोहफे में ना देते। भारत अभी तक आपके परिवार के द्वारा की गई गलतियों को ही भुगत रहा है।

आप इस बात को निश्चित समझें कि भारत आतंकवाद के खिलाफ जंग जीत कर ही रहेगा। ये सब आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर छोड़ दीजिए, जबतक आप चीनी समकक्षों से चोरी-छुपे मिलते रहिए।

मोदी जिनपिंग के साथ गुजरात मे झूला झलते हैं और चीन में सिर झुकाते हैं- राहुल

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार सुबह ही ट्वीट कर लिखा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से डर गए हैं और चीन जब भी भारत के खिलाफ कुछ गलत कदम उठाता है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप्पी साध लेते हैं।

राहुल गांधी ने लिखा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जिनपिंग के साथ गुजरात में झूला झूला, दिल्ली में गले मिले और चीन में जाकर उनके सामने सिर झुका दिया। राहुल गांधी से पहले कांग्रेस के अन्य प्रवक्ता भी मोदी सरकार पर सीधा हमला बोल रहे हैं।

चीन ने लगातार चौथी बार मसूद को बचाया

गौरतलब है कि चीन ने यूएनएससी में देर रात में वीटो पावर का इस्तेमाल करते हुए एक बार फिर से जैश सरगना मौलाना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से बचा लिया है। 10 साल में चौथी बार है जब चीन ने इस प्रस्ताव को रोका है।

यह भी पढ़ें.. नापाक हरकतों से बाज़ नहीं आ रहा पाक, सीमा पर की गोलाबारी, दोनों देशों के बीच व्यापार बंद

फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका अजहर के खिलाफ यह प्रस्ताव 27 फरवरी को लाए थे। इस पर आपत्ति की समय सीमा (बुधवार रात 12:30 बजे) खत्म होने से ठीक एक घंटे पहले। चीन ने इस पर अड़ंगा लगा दिया।

यह भी पढ़ें.. अब तुम्हारे हवाले इलेक्शन साथियों.. : ट्विटर पर मोदी ने लगाई गुहार, ‘वोट दें’


BY : shashank pandey




Loading...




Loading...