राष्ट्रीय - गुर्जर प्रदर्शन : आगरा नेशनल हाईवे जाम, काबू पाने के लिए UP-MP से की सुरक्षा बलों की डिमांड

गुर्जर प्रदर्शन : आगरा नेशनल हाईवे जाम, काबू पाने के लिए UP-MP से की सुरक्षा बलों की डिमांड



Posted Date: 11 Feb 2019

2636
View
         

जयपुर। 5 फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर राजस्थान में गुर्जर समाज लगातार प्रदर्शन कर रहा है। चौथे दिन जारी इस प्रदर्शन की वजह से सिकंदरा के पास आगरा नेशनल हाईवे जाम रहा। वहीं इसका असर बस और ट्रेन का सफर करने वाले यात्रियों को भी झेलना पड़ा। कारण यह है कि कई आंदोलनकारी मलारना डूंगर के पास रेलवे ट्रैक पर बैठे हुए हैं। दूसरी ओर धौलपुर में बिगड़ते माहौल को देखते हुए धारा 144 अभी भी लागू है।

बता दें धौलपुर में बीते दिन यानी रविवार को कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया था। इस घटना में फायरिंग भी की गई थी। बताया जाता है कि इस घटना के दौरान 12 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

खबरों के मुताबिक़ गुर्जर आरक्षण आंदोलन संघर्ष समिति के प्रदेश उपाध्यक्ष भूरा भगत ने कहा, "सरकार का प्रतिनिधिमंडल सकारात्मक जवाब देने की बात कह कर गया था, लेकिन अब तक कोई संदेश नहीं आया। ऐसे में अब गुर्जर समाज को अपना आंदोलन तेज करना होगा।'

इस बीच सरकार ने सरकार ने पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और सामाजिक न्याय विभाग मंत्री भंवरलाल मेघवाल की कमेटी बनाई है। बता दें धौलपुर के अलावा आंदोलन से सबसे ज्यादा प्रभावित भरतपुर और अजमेर संभाग हैं।

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश से आने वाली रोडवेज की बसों को रोक दिया गया है। कुछ बसें सिर्फ दौसा तक पहुंच पा रही हैं। सिंधीकैम्प में 12 बसों को रोका गया है। धौलपुर के पास भूतेश्वर पुल पर गुर्जर समाज के लोगों ने बाड़ी-बसेड़ी मार्ग जाम कर दिया।

हालांकि, अधिकारियों ने आंदोलनकारियों को समझाकर जाम खुलवाया। 5 ट्रेनें भी रद्द करनी पड़ी हैं। इनमें हापा-श्री माता वैष्णोदेवी कटरा एक्सप्रेस (13 फरवरी), अमृतसर-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस (12-14 फरवरी), अमृतसर-मुम्बई सेंट्रल एक्सप्रेस (13-15 फरवरी), फिरोजपुर-मुम्बई सेंट्रल एक्सप्रेस (12,13,14,15 फरवरी) और जम्मू तवी-इंदौर एक्सप्रेस (13 फरवरी) रद्द कर दी गई हैं।

यह भी पढ़ें : वृन्दावन: गरीब बच्चों के कार्यक्रम में बोले मोदी- 'विकसित देश के लिए पोषित बचपन का होना जरूरी'

वहीं प्रशासन ने भरतपुर, करौली, सवाई माधोपुर, दौसा और टोंक में सुरक्षा बढ़ा दी है। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश से अतिरिक्त सुरक्षा बल मंगवाया गया है। 8 जिलों में राजस्थान सशस्त्र बल की 17 कंपनियों की तैनात की गईं। रेलवे स्टेशन और ट्रैक की भी सुरक्षा की जा रही है।

यह भी पढ़ें : पेट्रोटेक उद्घाटन पर बोले मोदी, 5 साल में 55 से बढ़ाकर 90 फीसदी तक पहुंचाया LPG कनेक्शन


BY : Ankit Rastogi




Loading...




Loading...