अंतरराष्ट्रीय - दुबई में बोले इमरान खान, हमारे मुल्क में सिक्खों का मक्का-मदीना

दुबई में बोले इमरान खान, हमारे मुल्क में सिक्खों का मक्का-मदीना



Posted Date: 11 Feb 2019

2547
View
         

दुबई। हमारे मुल्क में सिखों का मक्का-मदीना है और देश अल्पसंख्यक समुदाय के लिए उन स्थलों को खोल रहा है। उक्त बात पाकिस्तान के वज़ीर-ए-आज़म इमरान खान ने रविवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कहीं। वह यहां प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम के निमंत्रण पर पहुंचे थे। पाक प्रधानमंत्री ने दुबई में आयोजित वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट के 7वें संस्करण में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मक्का और मदीना इस्लाम के दो सबसे पवित्र स्थल हैं। हमारे पास सिखों का मक्का और मदीना है और हम सिखों के लिए उन साइटों को खोल रहे हैं।

इमरान खान ने पिछले साल रखी थी करतारपुर कॉरीडोर की नींव

आपको बता दें कि इमरान खान ने पिछले साल नवंबर में पाकिस्तान के करतारपुर को भारत के गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ने वाले गलियारे की आधारशिला रखी थी। दरबार साहिब में सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपना अंतिम वक्त बिताया था। इसी को लेकर प्रधानमंत्री इमरान खान दुबई में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हमने अपने वीजा व्यवस्था को खोल दिया है। पहली बार 70 देशों के लोग पाकिस्तान आकर हवाई अड्डे से वीजा ले सकते हैं।

हमारे पास सिंधु घाटी की 5 हजार साल पुरानी सभ्यता मौजूद- इमरान खान

इमरान खान ने कहा कि दुनिया की आधी सबसे ऊंची चोटियां पाकिस्तान में हैं। पाकिस्तान में सबसे पुराने ऐतिहासिक स्मारक हैं। हमारे पास सिंधु घाटी की सभ्यता है, जो 5 हजार साल पुरानी है। हमारे पास पेशावर है, जो दुनिया का सबसे पुराना जीवित शहर है और ढाई हजार साल पुराना है। लाहौर और मुल्तान प्राचीन शहर हैं। हमारे पास गांधार सभ्यता है, जो बौद्ध सभ्यता का उद्गम स्थल था। खान ने कहा कि वे देश को पर्यटन के लिए खोल रहे हैं।

करतारपुर साहिब क्यों सिखों के महत्वपूर्ण?

पाकिस्तान में करतारपुर साहिब डेरा बाबा नानक मंदिर से लगभग चार किलोमीटर दूर रावी नदी के पार स्थित है। यह 1522 में सिख गुरु द्वारा स्थापित किया गया था। पहला गुरुद्वारा, गुरुद्वारा करतारपुर साहिब, यहां बनाया गया था। कहा जाता है कि गुरु नानक की मृत्यु इसी जगह हुई थी।

यह भी पढ़ें.. दिमागी रूप से कमजोर लड़के ने किया ऐसा कारनामा, अर्नाल्ड हुए मजबूर कहा- ये मेरा हीरो

गुरु नानक की जयंती मनाने के लिए हर साल भारत से हजारों सिख श्रद्धालु पाकिस्तान आते हैं। भारत ने करीब 20 साल पहले पाकिस्तान को कॉरिडोर का प्रस्ताव दिया था। जिसके अब जल्द ही पूरा होने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें.. Video : पुलिस का शर्मनाक टॉर्चर हुआ सोशल मीडिया पर वायरल तो मांगनी पड़ी माफी, प्रशासन बोला- होगी कार्रवाई


BY : shashank pandey




Loading...




Loading...