अंतरराष्ट्रीय - दोस्ती का हाथ बढ़ाकर खंजर घोपने की तैयारी में इमरान सरकार, भारत के खिलाफ उठाया ये बड़ा कदम

दोस्ती का हाथ बढ़ाकर खंजर घोपने की तैयारी में इमरान सरकार, भारत के खिलाफ उठाया ये बड़ा कदम



Posted Date: 29 Aug 2018

28
View
         

नई दिल्ली। पाकिस्तान में पीएम की कुर्सी संभालने के ठीक बाद जिस-तरह से नवनियुक्त प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के साथ बिगड़े संबंधों को सुधारने की बात कही थी। अब वह बात भी केवल एक सियासी जुमला सा दिखाई दे रहा है। कारण यह है कि एक ओर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान भारत के साथ अच्छे रिश्तों की पैरवी कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर इमरान सरकार भारत के खिलाफ मानवाधिकार आयोग में शिकायत दर्ज करा रही है।

बता दें इमरान सरकार ने मानवाधिकार आयोग को एक पत्र के माध्यम से भारतीय कश्मीर के बिगड़े हालातों पर चिंता जताते हुए भारत पर मुस्लिमों के साथ भेद-भाव करने का आरोप लगाया है। साथ ही भारतीय कश्मीर और फलस्तीन के हालात पर नाराजगी भी जाहिर की है। इतना ही नहीं मानवाधिकार आयोग को दिए गए पत्र में इमरान सरकार ने भारत के खिलाफ सख्त कदम उठाने की भी अपील की है।

खबरों के मुताबिक़ पाकिस्तान की केन्द्रीय मानवाधिकार मंत्री डॉ. शिरीन माजारी द्वारा अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार वॉच संस्था के प्रमुख को इस संबंध में एक पत्र लिखा गया है।

इस पत्र में डॉ. शिरीन माजारी ने भारतीय कश्मीर और फलस्तीन के हालात पर चिंता और नाराजगी जाहिर की है। इसके साथ ही डॉ. शिरीन ने अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था को इस संबंध में कड़े कदम उठाने को कहा है।

बता दें कि अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार वॉच संस्था के प्रमुख ब्रैड एडम्स ने इमरान सरकार को पत्र लिखकर पाकिस्तान में मानवाधिकारों के मुद्दों पर अपनी राय जाहिर की थी। जिसके जवाब में शिरीन मजारी ने ब्रैड एडम्स को पत्र लिखकर जवाब दिया है।

पाकिस्तानी मानवाधिकार मंत्री मजारी ने कश्मीर, फलस्तीन के साथ-साथ पश्चिमी देशों में जिस तरह से मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया जाता है, इस पर भी अपनी नाराजगी जाहिर की थी।

गौरतलब है कि एक तरफ इमरान सरकार भारत के साथ बातचीत करना चाहती है, वहीं दूसरी तरफ वह भारत की शिकायत कर रही है।

यह भी पढ़ें : UN ने ICC को सौंपी ‘रोहिंग्या नरसंहार’ की रिपोर्ट, सैन्य अधिकारियों पर चलेगा हत्या और यौन शोषण का मामला

ऐसे में इस तरह के माहौल में बातचीत की सार्थक पहल कैसे होगी, इसका अंदाजा खुद ही लगाया जा सकता है।

हाल ही में खबर आयी थी कि डॉ. शिरीन मजारी ने पाकिस्तान में मीडिया के साथ बातचीत में कहा था कि उनकी सरकार कश्मीर मुद्दे को हल करने के लिए एक प्रस्ताव तैयार कर रही है, जो कि अगले एक हफ्ते में तैयार हो जाएगा। इसके साथ ही ये भी चर्चाएं थीं कि भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अपने पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी से अमेरिका में अगले माह मुलाकात कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें : बिगड़ी इमेज सुधारने की कोशिश में फेसबुक, बैन किया ये ख़ास ऐप, 200 से अधिक टेम्परेरी ऑफ

दरअसल संभावना जताई जा रही हैं कि दोनों नेता जल्द होने वाली सालाना आम सभा में शामिल होने के लिए अमेरिका पहुंचेंगे। यहां दोनों नेता एक साथ बैठक भी कर सकते हैं। फिलहाल अभी इस बात की पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है। मामले की पुष्टि के बाद ही इस बारे में कुछ भी कह पाना मुमकिन होगा।


BY : Ankit Rastogi


Loading...





Loading...
Loading...