राष्ट्रीय - मनी लॉन्ड्रिंग केस: ED से बोले वाड्रा - लंदन में नहीं कोई फ्लैट, न किसी भंडारी से ताल्लुक

मनी लॉन्ड्रिंग केस: ED से बोले वाड्रा - लंदन में नहीं कोई फ्लैट, न किसी भंडारी से ताल्लुक



Posted Date: 06 Feb 2019

2786
View
         

नई दिल्ली। मनी लॉन्ड्रिंग केस के सिलसिले में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा से ईडी की पूछताछ चल रही है। मिली जानकारी के अनुसार वाड्रा से पहले चरण की पूछताछ शुरू हो गई है और अब दूसरे चरण की पूछताछ जारी है।

आपको बता दे कि वाड्रा से दूसरे चरण में विदेशों में उनकी संपत्तियों के बारे में पूछताछ की जाएगी। इनमें लंदन में खरीदी गई 8-9 संपत्तियां, तीन विलास और छह फ्लैट, सभी लेनदेन 05-10 के बीच हुए। इनके भुगतान के लिए एक ही मोडस ऑपरेंडी का उपयोग किया गया था। तीसरे चरण में रक्षा और पेट्रोलियम सौदे के बिचौलियों के संबंध में पूछताछ की जाएगी।

पहले चरण में ईडी ने वाड्रा से लंदन में प्रॉपर्टी और संजर भंडारी के बारे में लिखित में पूछा, जिसे वाड्रा ने इनकार कर दिया। वाड्रा द्वारा दिए गए लिखित स्टेटमेंट के अनुसार लंदन में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से उनकी कोई प्रॉपर्टी नहीं है। न ही वो संजात भंडारी को जानते है। उन्होंने कहा कि मैं मनोज अरोरा को जानता हूं। वे मेरे कर्मचारी थे, लेकिन उन्होंने अरोरा के ईमेल लिखने से इंकार किया।

बता दे कि रॉबर्ट वाड्रा बीती रात ईडी द्वारा पूछताछ के लिए अमेरिका से दिल्ली लौट आए हैं। बुधवार को वह अपनी पत्नी प्रियंका के साथ ईडी के दफ्तर पहुंचे। हालांकि प्रियंका को ईडी के दफ्तर में वाड्रा के साथ रहने की इजाजत नहीं मिली तो वो वापस लौट गई।

बता दे मनी लॉन्ड्रिंग मामले में वाड्रा से ED के चार अधिकारी पूछताछ कर रहे है। वाड्रा के साथ उनके वकीलों की एक टीम भी प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर पहुंची है।

ज्ञात हो कि प्रवर्तन निदेशालय लंदन में 1.9 मिलियन पौंड की संपत्ति खरीद पर मनीलांड्रिंग के आरोपों की जांच कर रहा है। एजेंसी का दावा है कि यह वाड्रा की संपत्ति है। जबकि, कांग्रेस ने वाड्रा के खिलाफ ईडी की जांच को सत्ताधारी एनडीए सरकार की तरफ से एक राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है। कांग्रेस ने यह भी आरोप लगाया है कि मोदी सरकार जांच एजेंसी का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए कर रही है।

यहां सफाई कर्मचारी की जॉब पाने के लिए MBA और B.Tec करने वालों की लगी होड़

 


BY : ANKIT SINGH




Loading...




Loading...