राष्ट्रीय - पूर्व सीबीआई डायरेक्टर नागेश्वर राव से जुड़ी कम्पनी के दो ठिकानों पर कोलकाता पुलिस ने मारी रेड

पूर्व सीबीआई डायरेक्टर नागेश्वर राव से जुड़ी कम्पनी के दो ठिकानों पर कोलकाता पुलिस ने मारी रेड



Posted Date: 08 Feb 2019

5225
View
         

नई दिल्ली। कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव के दो अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की है। मिली जानकारी के मुताबिक, कोलकाता के अलावा सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव की पत्नी की कंपनी में राज्य पुलिस छापेमारी की है। नागेश्वर राव की पत्नी की एंजेलिना मर्केंटाइल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी साल्ट लेक में स्थित है। सीबीआई सूत्रों की मानें तो कोलकाता पुलिस की यह कार्रवाई बदले की भावना से ओतप्रोत है। दरअसल, बीते रविवार को सीबीआई टीम ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पर छामा मारा था।

आपको बता दें कि एंजेला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड एक गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी  है, जोकि कथित तौर पर फरवरी 1994 में शुरू की गई थी। यह छापे कोलकाता पुलिस के पास दर्ज एक पुराने मामले से संबंधित है।

सीबीआई और कोलकाता पुलिस के बीच पनपा विवाद सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

मालूम हो कि रविवार को चिट फंड मामले कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची सीबीआई की टीम और राज्य पुलिस के बीच हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला था। उस दौरान कोलकाता पुलिस ने टीम को हिरासत में ले लिया था और जबरन थाने में ले गई थी।

कोलकाता के पुलिस कर्मियों ने संघीय जांच एजेंसी के अधिकारियों को कई गाड़ियों में भरकर एक पुलिस थाने भी ले गए थे। इसके बाद ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार पर निशाना साधा। ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की तरफ से इस छापेमारी के निर्देश देना का भी आरोप लगाया।

तीन दिन चला हाई वोल्टेज ड्रामा

ममता ने राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई की छापेमारी का कड़ा विरोध करते हुए धरना प्रदर्शन भी किया। धरनें में उनके साथ पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार की भी मौजूदगी देखने को मिली। ममता के धरने को विपक्ष का समर्थन मिला था।

यह भी पढ़ें.. अदालत का समय बर्बाद करने के लिए तेजस्वी पर 50 हजार का जुर्माना, खाली करना होगा बंगला भी

इसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा, जहां उच्चतम न्यायालय ने राजीव कुमार को निर्देश किया कि उन्हें चिटफंड मामले की जांच कर रही सीबीआई टीम को सहयोग करना होगा। इस दौरान तीन दिन बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया।

यह भी पढ़ें.. पत्रकारों पर मेहरबान हरयाणा सरकार, हर महीने मिलेगा इनता पेंशन, कैबिनेट से मिली हरी झंडी


BY : shashank pandey




Loading...




Loading...