राष्ट्रीय - महाराष्ट्र: मराठा के बाद अब मुस्लिम समाज आरक्षण की मांग को लेकर हुआ आक्रामक

महाराष्ट्र: मराठा के बाद अब मुस्लिम समाज आरक्षण की मांग को लेकर हुआ आक्रामक



Posted Date: 27 Aug 2018

48
View
         

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में मराठा आरंक्षण को लेकर जारी आंदोलन के बीच अब राज्य में मुस्लिम आरक्षण की मांग उठने लगी है। राज्य के 60 मुस्लिम संगठनों ने इसके लिए एक फोरम का गठन किया है। मुस्लिम नेताओं का मानना यही है कि कोर्ट के आदेश के बावजूद भी शिक्षा क्षेत्र में 5 प्रतिशत आरक्षण सरकार लागू नहीं कर रही है। यह पहला मौका है जब इतनी ज्यादा संख्या में संठनों ने सरकार के खिलाफ एक साथ मोर्चा खोला है।

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हुसैन दलवई ने बताया कि मुस्लिम समाज लंबे समय से आरक्षण की मांग कर रहा हैै। उन्होनें कहा कि अब विधिवत तरीके से आरक्षण की लड़ाई लड़ी जायेगी।

आरक्षण की मांग को आगे बढ़ाने के लिए सोमवार को मुस्लिम समाज के नेताओ और संगठनों ने मुंबई के इस्लाम जिमखाना में बैठक की।

बैठक में शामिल लोगों ने कहा कि मुसलमान सामाजिक-आर्थिक रूप से पिछड़े हैं। मुस्लिम को उच्च शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण दिया गया था। जिसे अदालत ने बरकरार रखा था। लेकिन सरकार ने इस पर कार्यवाही नहीं की और अध्यादेश समाप्त हो गया।

उलेमा काउंसिल के महासचिव मौलाना महमूद दरियाबादी ने कहा कि अब नौकरियों और शिक्षा में मुसलमानों के लिए 10 फीसदी आरक्षण की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: स्थायी समिति की मसौदा रिपोर्ट में हुआ खुलासा- नोटबंदी से बढ़ी बेरोजगारी और घटी GDP

उन्होनें कहा कि अदालत ने मराठा आरक्षण को खारिज कर दिया था, लेकिन मुस्लिम आरक्षण को इस आधार पर कायम रखा था कि समुदाय आर्थिक रूप से पिछड़ा है। ऐसे में मुसलमानों को आरक्षण दिया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: शिवसेना ने दागा ऐसा सवाल जो भाजपा की साख पर पड़ सकता है भारी, दांव पर पीएम मोदी की कुर्सी!


BY : Abdul Mannan


Loading...





Loading...
Loading...