अंतरराष्ट्रीय - लेने गया था लैंब मीट मिला गोवंश, अब भारत आकर शुद्धि कराना चाहता है युवक लेकिन नहीं हो रही सुनवाई

लेने गया था लैंब मीट मिला गोवंश, अब भारत आकर शुद्धि कराना चाहता है युवक लेकिन नहीं हो रही सुनवाई



Posted Date: 13 Mar 2019

20
View
         

ऑकलैंड। देश में गौ रक्षा के नाम पर हिंसा में अब तक कई जानें जा चुकी हैं। लेकिन इस बार विदेश में गोवंश से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। न्यूज़ीलैंड में रहने वाले एक व्यक्ति को गलती से गोवंश का मांस दे दिया गया जिसके हर्जाने के रुप में वह भारत आकर शुद्धि कराना चाहता है।

न्यूजीलैंड के साउथ आइलैंड में रहने वाले जसविंदर पाल ने एक सुपरमार्केट से हर्जाने के तौर पर भारत आने-जाने का खर्चा मांगा है। उनका आरोप है कि सिंतबर में उन्होंने ब्लेनहाइम काउंटडाउन मार्केट से लैंब मीट (भेड़ का मांस) खरीदा था। लेकिन उसे खाने के बाद पता चला कि बीफ (गोवंश का मांस) दे दिया गया। जसविंदर का कहना है कि अब वह भारत जाकर संतों से शुद्धि कराना चाहते हैं। 

न्यूजीलैंड की ‘स्टफ’ वेबसाइट से बातचीत में जसविंदर ने बताया कि हिंदू धर्म में गाय को एक पवित्र पशु माना गया है। इन्हें मारना पाप होता है। जसविंदर के मुताबिक, जबसे उन्होंने गाय का मांस खाया है, तभी से परिवार उनसे बात नहीं कर रहा। इसलिए वे भारत जाकर चार-छह हफ्तों में शुद्धि करा के धर्म के मार्ग पर लौटना चाहते हैं।

जसविंदर का कहना है कि उनका एक छोटा बिजनेस है, ऐसे में भारत जाने के लिए उन्हें कमाई का एक बड़ा हिस्सा खर्च करना पड़ेगा। हालांकि, वह एक बड़ी कंपनी के खिलाफ मामले को आगे नहीं घसीटना चाहते, लेकिन और कोई विकल्प नहीं है।

यह भी पढ़ें.. अफगानिस्तान : आतंकियों ने 13 बस यात्रियों का किया अपहरण, बदख्शां से जा रहे थे काबुल

उनका कहना है जब उन्हें धोखे का अहसास हुआ तो वे सुपरमार्केट हर्जाना मांगने पहुंचे। हालांकि, वहां कर्मचारियों ने उनसे माफी मांगते हुए 200 डॉलर (करीब 14 हजार रुपए) का एक गिफ्ट वाउचर ऑफर किया।

लेकिन जसविंदर ने इसे लेने से इनकार करते हुए भारत आने-जाने की फ्लाइट का खर्च मांग लिया।इसके बाद जसविंदर पिछले पांच महीने से इस कोशिश में हैं कि सुपरमार्केट उन्हें हर्जाना दे दे। हालांकि, कई कोशिशों के बाद अब वे कोर्ट के जरिए हर्जाना वसूलना जाना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें.. अमेरिका ने भारत का साथ देते हुए पाकिस्तान को चेताया – ‘आंतकवाद के विरुद्ध ठोस एक्शन लें’


BY : Saheefah Khan




Loading...




Loading...