राष्ट्रीय - कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों को नहीं है ईवीएम पर भरोसा, बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग

कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों को नहीं है ईवीएम पर भरोसा, बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग



Posted Date: 28 Aug 2018

14
View
         

नई दिल्ली। कांग्रेस समेत अन्य कई विपक्षी दलों ने ईवीएम पर संदेह जताते हुए फर से बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग की है। चुनाव आयोग व अन्य राष्ट्रीय व क्षेत्रीय दलों के साथ हुई बैठक के बाद कांग्रेस ने यह बात कही। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बैठक के बाद कहा कि बीते दिनों कई राज्यों में हुए चुनावों में ईवीएम में आई खराबी चिंता का विषय है। यह फिर से बैलेट पेपर से चुनाव कराने की ओर इशारा करता है। उन्होंने कहा कि देश की 70 प्रतिशत से अधिक पार्टियां बैलेट पेपर से चुनाव करवाए जाने की वापसी चाहती हैं। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में मौजूद सपा, बसपा, व टीएमसी और कांग्रेस के प्रतिनिधियों ने ईवीएम का मुद्दा उठाते हुए बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग की।

ईवीएम में वीवीपैट मशीन लगाने का सुझाव दिया

कांग्रेस प्रवक्ता सिंघवी ने कहा कि विपक्षी दलों ने विकल्प के तौर पर कम से कम 30 प्रतिशत मतदान केंद्रों में वोटों की प्रमाणिकता की जांच के लिए ईवीएम में वीवीपैट मशीन लगाने का सुझाव दिया है। ईवीएम के अलावा कांग्रेस ने चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों द्वारा किए जाने वाले खर्च की अधिकतम सीमा निर्धारित करने पर जोर दिया। वर्तमान में लोकसभा और विधानसभा के उम्मीदवारों के लिए चुनाव के दौरान खर्च की एक सीमा है। लेकिन, राजनीतिक दलों द्वारा किए जाने वाले खर्च की कोई सीमा नहीं है।

कांग्रेस ने स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए मतदाताओं की सूची से सभी डुप्लिकेट और झूठे मतदाताओं से बाहर निकलने की भी मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि मध्य प्रदेश की मतदाता सूचि में 60 लाख और राजस्थान की मतदाता सूची में 35 लाख डुप्लिकेट मतदाता हैं। दोनों ही राज्यों में इस साल के अंत में चुनाव होंगे।

यह भी पढ़ें : टिस की रिपोर्ट में खुलासा: बिहार के लगभग सभी शेल्टर होम में बच्चे हो रहें भूख और मौखिक प्रताड़ना का शिकार

 

कांग्रेस द्वारा बैलेट पेपर से चुनाव कराने को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि कुछ पार्टियों का फिर से बैलेट पेपर की ओर जाना वास्तव में बुरा है, क्योंकि यह बूथ कैप्चरिंग को वापस लाएगा और हम इसकी वापसी नहीं चाहते। रावत के अनुसार, कुछ पार्टियों ने कहा कि ईवीएम और वीवीपैट की गिनती के साथ समस्याएं हैं, चुनाव आयोग को इस पर काम करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : CBI ने कहा- रेड काॅर्नर नोटिस के बिना भी हो सकता है मेहुल चैकसी का प्रत्यर्पण


BY : INDRESH YADAV


Loading...





Loading...
Loading...