राजनीति - साबरमती पहुंच कर प्रिंयका हुईं भावुक, कहा – ‘यहां की सादगी में सत्य जीवित है’

साबरमती पहुंच कर प्रिंयका हुईं भावुक, कहा – ‘यहां की सादगी में सत्य जीवित है’



Posted Date: 13 Mar 2019

8
View
         

नई दिल्ली। औपचारिक रुप से राजनीति की शुरुआत करते ही कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी ने ट्विटर पर अपना अकाउंट बना लिया था। लेकिन कदम फूंक फूंक कर चलने वाली प्रिंयका ने कोई ट्वीट अभी तक किया नहीं था। शायद वह विपक्ष की हर चाल से सतर्क होकर आगे बढ़ना चाहती हैं। साबरमती आश्रम का दौरा कर उन्होंने चुनावी तैयारियों की शुरुआत की है और इसके साथ ही पहला ट्वीट भी कर दिया।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्विटर पर दस्तक देने के एक महीने बाद मंगलवार को अपना पहला ट्वीट किया। उन्होंने साबरमती आश्रम का जिक्र किया और महात्मा गांधी के एक कथन का हवाला देते हुए कहा कि राष्ट्रपिता हमेशा हिंसा के खिलाफ रहे।

अहमदाबाद में कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में शामिल होने के बाद प्रियंका ने ट्वीट किया। उन्होंने कहा, ''साबरमती की सादगी में सत्य जीवित है।'' प्रियंका 10 फरवरी को ट्विटर पर आई थीं।

प्रियंका ने गांधीजी के एक कथन का हवाला देते हुए दूसरा ट्वीट किया- अगर हिंसा के मकसद में कुछ अच्छा दिखता है तो वह अस्थायी है। हिंसा में हमेशा बुराई ही होती है।

इससे पहले प्रियंका ने यहां कांग्रेस की जनसभा में कहा, ''पहली बार गुजरात आई हूं और पहली बार उस साबरमती आश्रम गई जहां से महात्मा गांधी ने आजादी के लिए संघर्ष की शुरुआत की थी। वहां बैठकर लगा कि आंखों में आंसू आ जाएंगे। उन लोगों की याद आई जिन्होंने देश के लिए अपना सबकुछ न्योछावर कर दिया। यह देश प्रेम, सद्भाव और आपसी प्यार के आधार पर बना है। आज जो कुछ देश में हो रहा है उससे दुख होता है।"

प्रियंका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृहराज्य गुजरात में उन पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि देश में चारों तरफ नफरत फैलाई जा रही है जिसका सभी को मिलकर मुकाबला करना है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को ताकीद दी कि असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की लगातार कोशिश की जाएगी, लेकिन वे रोजगार, किसानों और महिला सुरक्षा के मुद्दों को लेकर सवाल पूछते रहें।


BY : Saheefah Khan




Loading...




Loading...