राष्ट्रीय - राहुल को भारी पड़ा नोटबंदी के दौरान उठाया गया ये कदम, कर सकते हैं हवालात की सैर

राहुल को भारी पड़ा नोटबंदी के दौरान उठाया गया ये कदम, कर सकते हैं हवालात की सैर



Posted Date: 28 Aug 2018

25
View
         

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटबंदी के दौरान भाजपा पर किया गया हमला भारी पड़ गया है। अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कॉपरेटिव बैंक (ADCB) और इसके चेयरमैन अजय पटेल ने सोमवार को राहुल के खिलाफ आपराधिक मानहानी का मुकदमा दर्ज कराया है। साथ ही कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का नाम भी इसी मुकदमें के तहत शामिल किया गया है। बता दें नोटबंदी के दौरान 22 जून को एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिये सुरजेवाला ने आरटीआई के जवाब के हवाले से दावा किया था कि नोटबैन का फरमान पारित होने के पांच दिन के भीतर 745.58 करोड़ रुपये मूल्य के बंद हो चुके नोट बदले गए।

वहीं सुरजेवाला ने दावा करते हुए यह आरोप भी लगाया था कि एडीसीबी चेयरमैन पटेल भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीबी हैं। जिसका फायदा उठाते हुए नोटबंदी की आंड़ में कालाधन सफेद किया गया। इसलिए इस मामले की जांच की जानी चाहिए।

खबरों के मुताबिक़ अजय पटेल ने यह मुकदमा मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में दाखिल किया है। अदालत ने सीआरपीसी के तहत मामले में जांच के आदेश दिए और अगली सुनवाई 17 सितंबर तक के लिए टाल दी गई है।

बैंक और अजय पटेल की ओर से वकील एसवी राजू ने कहा कि सुरजेवाला ने ‘झूठे और आधारहीन’ आरोप लगाए हैं।

उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘ShahZyadaKhaGaya’… और पार्टी (बीजेपी) के पास पैसा 80 फीसदी बढ़ गया। लेकिन बैंक से एक पैसा भी कहीं नहीं गया।’

बता दें कि राहुल और सुरजेवाला के आरोपों को तत्कालीन वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने सिरे से खारिज किया था।

यह भी पढ़े : कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों को नहीं है ईवीएम पर भरोसा, बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग

ध्यान रहे, जिस दिन सुरजेवाला ने ये आरोप लगाए, उसी दिन राहुल गांधी ने ट्वीट करके लिखा था, ‘अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कॉपरेटिव बैंक के डायरेक्टर अमित शाह जी, आपके बैंक के पुराने नोट बदलकर नए करने में नंबर वन पुरस्कार जीतने पर बधाई हो। 5 दिन में 750 करोड़ रुपये।

नोटबंदी की वजह से जिन लाखों भारतीयों की जिंदगियां तबाह हो गईं, वे आपकी इस उपलब्धि पर सलाम करते हैं।’ हालांकि, नाबार्ड ने बाद में साफ किया था कि ADCB में प्रति खाताधारक औसत जमा रुपये 46,795 है, जो गुजरात के 18 डिस्ट्रिक्ट कॉपरेटिव बैंक में जमा औसत धनराशि के मुकाबले कम है।

यह भी पढ़े : टिस की रिपोर्ट में खुलासा: बिहार के लगभग सभी शेल्टर होम में बच्चे हो रहें भूख और मौखिक प्रताड़ना का शिकार


BY : Ankit Rastogi


Loading...





Loading...
Loading...