राष्ट्रीय - भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले पर SC का अंतरिम आदेश- सभी आरोपी 5 सितंबर तक रहेंगे नजरबंद

भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले पर SC का अंतरिम आदेश- सभी आरोपी 5 सितंबर तक रहेंगे नजरबंद



Posted Date: 29 Aug 2018

34
View
         

नई दिल्ली। भीमा कोरेगांव केस में पांच लोगों की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट ने सभी आरोपियों को 5 सितंबर तक नजरबंद रखने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट में 6 सितंबर को अगली सुनवाई होगी।

पांच महीने में दूसरी बार मंगलवार को पुणे पुलिसे ने देशभर के कथित नक्सल समर्थकों के घरों व कार्यालयों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की।

सूत्रों के मुताबिक भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में जांच के मद्देनजर छापे के बाद अब तक कवि वरवरा राव, अरूण पेरेरा, गौतम नवलखा, वेरनोन गोन्जाल्विस और सुधा भारद्वाज को गिरफ्तार किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम आदेश जारी करते हुए महाराष्ट्र सरकार से गुरूवार तक मामले पर जवाब मांगा है।इसी क्रम में कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को नोटिस भी जारी किया है। इसके साथ ही सभी आरोपियों की ट्रांजिट रिमांड पर भी सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है।

पुणे के नजदीक 1 जनवरी को भीमा-कोरंगांव युद्ध के 200 साल पूर्ण होने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान दो समूहों के बीच संघर्ष में एक युवक की मौत हो गई थी और चार लोग घायल हो गए थे।

आपको बता दें भीमा-कोरंगांव में जनवरी माह में हुई हिंसा में पांच लोगों की गिरफ्तारी के बाद चैंकाने वाला खुलासा हुआ था। पुणे पुलिस को एक आरोपी के घर से ऐसा पत्र मिला था, जिसमें राजीव गांधी की हत्या की प्लानिंग का ही जिक्र किया गया था। इस पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने की बात भी कही गई थी। मंगलवार को देशभर के कई शहरों शहरों मुंबई, रांची, हैदाराबाद, फरीदाबाद, दिल्ली और ठाणे में छापेमारी की गई थी।

यह भी पढ़ें : ’गगनयान’ के ’मैन मिशन’ की रूपरेखा तैयार, 16 मिनट में अंतरिक्ष पहुंचकर हफ्ता बिताएंगे तीन भारतीय

बता दें मामले में पुणे पुलिस ने मंगलवार को देशभर में कई नक्सल समर्थकों के आवास पर छापे मारे और माओवादी समर्थक वरवरा राव, सुधा भारद्वाज, अरूण फरेरा, बरनोन गोंजालविस और गौतम नवलखा को गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें : शिवपाल ने किया समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का गठन, इन नेताओं से किया जुड़ने का आह्वान

उल्लेखनीय है कि रांची में स्टेन स्वामी को गिरफ्तार नहीं किया गया है केवल उनके घर की तलाशी ली गई। कार्यकर्ताओं के कई समर्थकों ने विभिन्न जगहों पर पुलिस छापे के दौरान प्रदर्शन किया।


BY : Abdul Mannan


Loading...





Loading...
Loading...