आजमगढ़ - आज़मगढ़ की शान माने जाने वाले शायर कैफी आज़मी की शख्सियत से रुबरु होगी दुनिया

आज़मगढ़ की शान माने जाने वाले शायर कैफी आज़मी की शख्सियत से रुबरु होगी दुनिया



Posted Date: 07 Feb 2019

3646
View
         

आज़मगढ़। कैफी आज़मी के स्वर्ण जंयती वर्ष पर होने वाले कार्यक्रम के अंतर्गत बॉलीवुड अभिनेत्री शबाना आज़मी और उनके पति जावेद अख्तर कराची में होने वाले एक सम्मेलन में शिरकत करेंगे। इस कार्यक्रम में भारत के उल्लेखनीय और लोकप्रिय लेखक, शायर और कलाकारों के लिए अपने पाकिस्तानी समकक्षों के साथ बातचीत का शानदार मौका मिलेगा। जिसमें शबाना आज़मी अपने पिता और आज़मगढ़ शहर की खूबियों से पाकिस्तान को रुबरु कराएंगी।

कराची के संगठन द आर्ट ऑफ गैलरी द्वारा आयोजित ये समारोह 23 और 24 फरवरी को होने जा रहा है। जो कैफी आज़मी की याद में आयोजित किया जा रहा है। बता दें कि कैफी आज़मी का जन्म 14 जनवरी 1919 को आज़मगढ़ के मेजवां गांव में हुआ था। अपने गांव से कैफी को इतनी मुहब्बत थी कि वह यहां से कभी खुद को अलग नहीं कर पाये। यही कारण था कि फॉलिज के अटैक के बाद वह मुंबई छोड़कर अपने गांव आ गए और अपनी ज़िंदगी के आखिरी दिन मेजवां में ही बिताए।

यह भी पढ़ें.. लोकसभा चुनाव 2019 : भतीजे को मात देने के लिए शिवपाल ने तैयार की रणनीति, अखिलेश के लिए कड़ी चुनौती

इसलिए उनके जन्म के 100 साल पूरे होने पर उनकी बेटी और बॉलीवुड अभिनेत्री शबाना आज़मी ने उनकी याद में शताब्दी वर्ष मनाने का फैसला किया। जिसके अंतर्गत पूरी दुनिया में उनकी शायरी, उनके सामाजिक कार्यों और उनकी किताबों पर चर्चा की जाएगी। उन पर बनीं डाक्यूमेंट्री भी दिखाई जाएंगी।

इसी के अंतर्गत कैफी आज़मी के बेटे बाबा आज़मी मी रक्सम फिल्म भी बना रहे हैं जिसकी शूटिंग कैफी के गांव मेजवां में चल रही है। इस फिल्म के प्रोड्यूसर और डायरेक्टर भी बाबा आज़मी ही हैं। फिल्म में मुख्य भूमिका में अदिति राव हैदरी हैं। इससे पहले बाबा अपने पिता पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी बना चुके हैं।

यह भी पढ़ें.. जिले में परिषदीय और माध्यमिक स्कूलों के बच्चों के आएंगे अच्छे दिन, गठित होगी बाल संसद


BY : Saheefah Khan




Loading...




Loading...