राष्ट्रीय - SC-ST आरक्षण मामले पर कोर्ट का ‘सुप्रीम फैसला’, कहा- राज्य विशेष पर ही बनेगी बात

SC-ST आरक्षण मामले पर कोर्ट का ‘सुप्रीम फैसला’, कहा- राज्य विशेष पर ही बनेगी बात



Posted Date: 30 Aug 2018

18
View
         

नई दिल्ली। एससी-एसटी आरक्षण मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा कि आरक्षण के तहत सेवा या नौकरी का लाभ पाने वाले किसी अन्य राज्य से उसका फायदा नहीं उठा सकते। यानी अब से जातिगत आरक्षण के तहत नौकरी में कोई भी व्यक्ति किसी एक राज्य विशेष से ही मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठा पाएगा।

बता दें कि एक अन्य मामले में भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। जिसमें ये तय होना है कि क्या सरकारी नौकरी में मिलने वाले प्रमोशन में भी एससी/एसटी वालों को आरक्षण मिलना चाहिए या नहीं।

खबरों के मुताबिक़ सुप्रीम कोर्ट ने कहा- SC/ST आरक्षण के तहत सेवा या नौकरी में लाभ पाने वाला व्यक्ति किसी दूसरे राज्य में उसका फायदा नहीं ले सकता है।

यह भी पढ़ें : कश्मीर से भी अहम पाकिस्तान के लिए ये समझौता, नहीं बनी बात तो बूंद-बूंद के लिए मचेगी चीख-पुकार

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के सामने सवाल था कि एक राज्य में जो व्यक्ति अनुसूचित जाति में है तो क्या वह दूसरे राज्य में अनुसूचित जाति में मिलने वाले आरक्षण का लाभ ले सकता है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि नहीं, ऐसा नहीं हो सकता।

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी आदेश दिया है कि कोई भी राज्य सरकार अपनी मर्जी से अनुसूचित जाति, जनजाति की लिस्ट में कोई बदलाव नहीं कर सकती है।

ये अधिकार सिर्फ राष्ट्रपति का ही है। या फिर राज्य सरकारें संसद की सहमति से ही लिस्ट में कोई बदलाव कर सकती है।

यह भी पढ़ें : बैंकों की नाक में दम कर देने वाला शातिर चढ़ा CBI के हत्थे, लगा चुका 50 करोड़ की चपत

हालांकि, जो व्यक्ति राजधानी दिल्ली में सरकारी नौकरी करने वालों को अनुसूचित जाति से संबंधित आरक्षण केंद्रीय सूची के हिसाब से मिलेगा।


BY : Ankit Rastogi


Loading...





Loading...
Loading...