राष्ट्रीय - सितंबर की शुरुआत लेकर आई है बड़ी सौगात, हुए ये 4 बदलाव, जानिए क्या होगा नफा-नुकसान

सितंबर की शुरुआत लेकर आई है बड़ी सौगात, हुए ये 4 बदलाव, जानिए क्या होगा नफा-नुकसान



Posted Date: 01 Sep 2018

35
View
         

नई दिल्ली। सितंबर के महीने की शुरुआत से देश में चार बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। ये बदलाव रेलवे, बैंकिंग, डाक विभाग व वाहन संबंधित चीज़ों पर लागू हो चुके हैं। इन बदलावों से आपके जीवन में क्या परिवर्तन आएगा, यह जानना आपके लिए बेहद जरुरी है। इन बदलावों के तहत एकतरफ जहां रेलवे ने अब फ्री ट्रैवल इंश्योरेंस की सुविधा खत्म कर दी है। वहीं दूसरी तरफ 1 सितंबर से वाहन खरीदना भी आपके लिए महंगा हो जाएगा। इसके अलावा अब से यूआईडीएआई फेस रेकग्रिशन(चेहरे से पहचान) की सुविधा उपलब्ध कराएगा। इसके अलावा सितंबर से ही पोस्ट ऑफिस पेमेंट बैंक शुरु होने जा रहे हैं।

जानिए इन बदलावों के बारे में

रेलवे द्वारा किए गए इस बदलाव के चलते अब से ऑनलाइन टिकट बुकिंग के दौरान आपको फ्री में मिलने वाला ट्रैवल इंश्योरेंस अब मुफ्त नहीं रहा। इसे लेने के लिए अब आपको एक वाजिब चार्ज अर्थात भुगतान करना होगा। इसके लिए ऑनलाइन टिकट बुकिंग करते समय ही आपको इस बात की पुष्टि करनी होगी कि आप यह ट्रैवल इंश्योरेंस लेना चाहते हैं या नहीं। यह पूरी तरह से आप पर निर्भर होगा कि आप इसे लें या फिर नहीं। लेकिन अगर आप इसे लेना चाहते हैं तो अब से आपको इसके लिए भुगतान करना होगा।

वहीं 1 सितंबर से नई कार और टू-व्हीलर्स को खरीदना महंगा हो रहा है। अब कार और टू-व्हीलर्स को खरीदने के वक्त ही कम से कम तीन साल और पांच साल Insurance कवर लेना होगा। ऐसे में नए व्हीकल्स पर लॉन्ग टर्म प्रीमियम पेमेंट्स की वजह से शुरुआती खर्च बढ़ जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने थर्ड पार्टी इं‍श्योरेंस कवरेज बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया है। फोर व्हीलर को तीन साल और टू-व्हीलर मालिक को 5 साल का कवर लेना अनिवार्य होगा।

पोस्ट ऑफिस के इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) की शुरुआत भी 1 सितंबर से हो रही है। यह देश का पहला ऐसा बड़ा बैंक होगा, जो लोगों घर पर बैंकिंग की सर्विस मुहैया कराएगा। डाक विभाग के देश भर में फैले अपने डाक सेवकों और पोस्टमैन के जरिए यह सेवा मुहैया कराएगा। बैंकों में जहां सेविंग अकाउंट पर 4 फीसदी के आसपास ब्याज मिल रहा है, वहीं डाक विभाग का पेमेंट बैंक सेविंग अकाउंट पर 5.5 फीसदी ब्याज देगा।

यह भी पढ़ें : RBI ने फिर बदला रुपए का रंग-रूप, अब कुछ इस अंदाज में जारी हुआ सबसे ज्यादा डिमांड वाला ये ख़ास नोट

इसके अलावा UIDAI ने फेस रेकग्निशन (चेहरे से पहचान) को चरणबद्ध तरीके से लाने की घोषणा कर दी है। फेस रेकग्निशन सत्यापन का एक अतिरिक्त माध्यम होगा। फेस रेकग्निशन की शुरुआत फोन कंपनियों से होगी और यह 15 सितंबर से शुरू होगी।

 यह भी पढ़ें : 5वीं पास के लिए 62 पोस्ट, टूट पड़े पीएचडी, बी.टेक और एमबीए डिग्रीधारी


BY : INDRESH YADAV


Loading...





Loading...
Loading...