राजनीति - साक्षी महाराज का भाजपा को अल्टीमेटम- 'उम्मीदवार नहीं बनाया तो नतीजे अच्छे नहीं होंगे'

साक्षी महाराज का भाजपा को अल्टीमेटम- 'उम्मीदवार नहीं बनाया तो नतीजे अच्छे नहीं होंगे'



Posted Date: 12 Mar 2019

6
View
         

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की तारीख का ऐलान चुनाव आयोग द्वारा बीते रविवार को कर दिया गया। जल्द ही पार्टियां अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर सकती है। साथ ही पार्टी के पुराने उम्मीदवारों को अपने टिकट कटने का डर भी सताने लगा हैं। ऐसा ही उदाहरण उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज द्वारा देखने को मिला। देश में हमेशा संवेदनशील मुद्दों पर निर्भीक होकर बयान देने वाले फायर-ब्रांड सांसद साक्षी महाराज को अब टिकट कटने का डर सताने लगा है।

दरअसल साक्षी महाराज ने बीते 7 मार्च को यूपी बीजेपी के अध्यक्ष को एक चेतावनी भरा पत्र लिखा और कहा कि "अगर मेरा टिकट कटा तो भाजपा के लिए ये बहुत बुरा साबित होगा।" साथ ही उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र में जातीय समीकरण का हवाला देते हुए कहा कि मैं उन्नाव संसदीय क्षेत्र से इकलौता ओबीसी चेहरा हूं।

साक्षी महाराज ने पत्र में लिखा है, मैंने 5 साल में सबसे ज्यादा काम किया है। गरीबों की सेवा के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर दिए है। लगातार पार्टी की स्थिति मजबूत करता आ रहा हूं। अगर इसके बावजूद पार्टी हमको टिकट न देकर किसी और उम्मीदवार को टिकट देती है तो इसका परिणाम पार्टी के लिए सुखद नहीं होगा।

आचार्य साक्षी महाराज ने दावा किया कि मै महामंडलेश्वर होने के नाते सभी जाति, धर्म और वर्ग से वोट ले सकता हूं, इसलिए मेरी प्रदेश अध्यक्ष से विनती है कि इस बार लोकसभा चुनाव में एक बार फिर उन्नाव सीट से मुझे मौका दिया जाए। उन्होंने पत्र में यह भी लिखा है कि अगर उन्नाव सीट के अलावा कोई दूसरी सीट मुझे दी जाएगी तो मैं चुनाव नहीं लड़ना पसंद करुगा।

महाराज ने 2014 में हुए लोकसभा का हवाला दिया और पिछला आंकड़ा पेश किया। ज्ञात हो कि पिछले साल उन्नाव सीट से साक्षी महाराज ने तीन लाख पन्द्रह हजार मतों से जीत दर्ज की थी। जिससे सपा और बसपा के उम्मीदवारों की जमानत जप्त हो गई थी।

साक्षी महाराज ने इस बार के लोकसभा चुनाव के बारे में बताया कि इस बार उन्नाव की लोकसभा सीट सपा के खाते में गई है, जिससे यहां किसी ब्राह्मण उम्मीदवार के चुनाव लड़ने की सम्भावना है। महाराज ने खुद को उन्नाव का ओबीसी चेहरा बताते हुए वोटरों की संख्या गिनाई और प्रवल दावेदार बताया।

साक्षी महाराज के बौखलाहट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भाजपा इस बार काफी उम्मीदवार का टिकट काट सकती है और नए चेहरे पेश कर सकती है। जल्द ही भाजपा अपनी पहली उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करेगी। जिसके बाद ही पता चल पाएंगा कि भाजपा की नई रणनीति क्या है।


BY : Ankit Singh




Loading...




Loading...