राजनीति - राजस्थान : विधानसभा गंवाने के बाद एक्शन में भाजपा, लोकसभा चुनाव जीतने के लिए बनाया यह धाकड़ प्लान

राजस्थान : विधानसभा गंवाने के बाद एक्शन में भाजपा, लोकसभा चुनाव जीतने के लिए बनाया यह धाकड़ प्लान



Posted Date: 11 Feb 2019

3182
View
         

जयपुर। बीते कुछ समय से भारतीय जनता पार्टी को कुछ राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। इन राज्यों में कुछ राज्य ऐसे भी हैं, जिनमें भाजपा आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए किसी भी प्रकार की कसर नहीं छोड़ना चाहती है। वह इन राज्यों में विशेष ध्यान देने में जुटी हुई है। ऐसा ही एक राज्य है, राजस्थान। जहां पर पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में हार मिलने के बाद भाजपा ने अपनी तैयारी और भी तेज कर दी है। जिसके जरिए वह आगामी लोकसभा चुनाव में राज्य की सभी 25 सीटों पर जीत हासिल कर सके।

हालांकि राज्य की सत्ता पर काबिज कांग्रेस सरकार भी भाजपा को कड़ी चुनौती देने के मूड में है। इसलिए वह भी अपनी पूरी तैयारी में जुटी हुई है। यही कारण है कि राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट पार्टी के चुनावी घोषणापत्रों के दावों को जमीनी हकीकत पर उतारने में जुटे हुए हैं। भाजपा और कांग्रेस के बीच इस कड़ी टक्कर के पीछे एक बहुत बड़ा कारण भी है।

दरअसल इतिहास के पन्नों को अगर पलट कर देखा जाए तो यही हकीकत सामने आती है कि राज्य में जिस पार्टी की सरकार रही है, लोकसभा चुनाव में भी उसी का डंका बजा है। जिसको लेकर अब भाजपा किसी भी प्रकार की कमी नहीं रखना चाहती है। राज्य में लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा ने अपनी रणनीतियों में कुछ बदलाव भी किया है, जिसके जरिए वह कांग्रेस पर वार करने की तैयारी में है। भाजपा मुख्य रूप से तो राज्य में शासित गहलोत सरकार की कमियों को उजागर करने और उसके खिलाफ मुहिम चलाने पर जोर देने के मूड में है।

यह भी पढ़ें : चुनाव से पहले यूपी में ओवैसी की एंट्री बिगाड़ सकती है माहौल, प्रकाश जावड़ेकर को मिला धमकी भरा पत्र

इसके अलावा भाजपा को राज्य में 0.5 फीसदी वोटों के अंतर से ही हार का सामना करना पड़ा है, इस बात को भी वह जनता तक पहुंचाने में जुटी हुई है। वहीं भाजपा ने राज्य में कांग्रेस द्वारा किसानों की कर्जमाफी पर पलटवार करते हुए कुछ आंकड़ें पेश किए हैं। भाजपा ने दावा किया है कि किसानों की कर्जमाफी में 18000 करोड़ रुपए कम पड़ गए हैं। क्योंकि कांग्रेस ने 59 लाख किसानों के 99995 करोड़ रुपए माफ करने की बात कही थी, जबकि ऐसा नहीं हुआ है। इस मुद्दे को लेकर ही भाजपा ने प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन भी किया था।

यह भी पढ़ें : समाज में माहौल बिगाड़ने वालों को दिग्गज भाजपा नेता की चुनौती, अगर की यह टिप्पणी तो होगी पिटाई

इसके अलावा भाजपा राज्य की सभी 25 लोकसभा सीटों पर अपनी धाक जमाने के लिए जमीन पर उतर चुकी है और अपने दिग्गज नेताओं और बूथ स्तर कार्यकर्ताओं के जरिए माहौल बनाने की तैयारी कर रही है। इसके साथ ही पार्टी का यूथ विंग भी अपने स्तर पर कई कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है। इन कार्यक्रमों के जरिए ही भाजपा लोगों में कांग्रेस के विरोध में प्रचार करेगी।  


BY : Akhilesh Tiwari




Loading...




Loading...