राजनीति - बीजेपी पर भारी पड़ रहा सपा+बसपा गठबंधन, एक ट्विटर तो एक प्रेस कॉन्फ्रेंस से बोल रहे हमला

बीजेपी पर भारी पड़ रहा सपा+बसपा गठबंधन, एक ट्विटर तो एक प्रेस कॉन्फ्रेंस से बोल रहे हमला



Posted Date: 10 Mar 2019

21
View
         

लखनऊ। चुनाव आयोग रविवार शाम पांच बजे लोकसभा चुनाव 2019 को तारीखों का ऐलान करने वाला है। ऐसे में कोई राजनीतिक पार्टी एक-दूसरे पर हमला बोलने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती। इसी परंपरा को बरकरार रखते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और बसपा सुप्रीमो मायावती ने भारतीय जनता पार्टी पर कुछ परंपरागत मुद्दों को लेकर आरोप लगाए हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि वोटों के लिए बीजेपी किसी भी हद तक जा सकती है। वहीं मायावती ने कहा कि खोखलेवादों से मुक्ति का दिन आ गया है। सपा अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वहीं मायावती ने ट्विटर से बीजेपी को घेरा।

अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, ‘वोटों के लिए बीजेपी देश में नफरत फैला रही है। वोटों के लिए बीजेपी ने आर्मी को भी राजनीति में घसीट लिया। मैं खुद मिलिट्री स्कूल में पढ़ा हूं।’ उन्होंने कहा कि, ‘बीजेपी ने वोट के लिए गाय और गंगा को भी नहीं छोड़ा। लोग इस सरकार से दुखी हैं इसलिए वे बदलाव चाहते हैं।’ पीएम की रैलियों और जनसभाओं पर बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘हम चाहते थे कि वे लोग थक जाएं इसके बाद हम अपना प्रचार अभियान शुरू करेंगे।’

उन्होंने कहा कि, ‘बीजेपी को अब जवाब देना होगा कि उन्होंने कितने लोगों को नौकरियां दी हैं। नौकरियां तो दूर 40 हजार बिजनेसमैन देश छोड़कर चले गए।’ उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी जल्द ही उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर देगी।

यह भी पढ़ें : नोएडा में बोलते रह गए प्रधानमंत्री और घर चले गए रैली में आए लोग, सुना है- किराए पर आए थे?’

बीजेपी के दो नेताओं के बीच हुई मारपीट पर चुटकी लेते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘ऐसा पहली बार हुआ है जब दो नेताओं ने एक दूसरे की पिटाई की, 21 जूतों की सलामी दी गई, अब हालात ऐसे हैं कि मंत्री जिलों में जाने से डरते हैं, ये जूतोंवाली सरकार है।’

यह भी पढ़ें : ज़मीन पर उतरे स्टार प्रचारक : उन्नाव पहुंचे राजनाथ, जनता से करेंगे मन की बात

इस लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव की सहयोगी मायावती ने भी केंद्र सरकार पर हमला बोला। मायावती ने कहा कि, ‘खोखले वादों से मुक्ति का समय आ गया है।’ उन्होंने ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘बहुप्रतीक्षित लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की आज शाम घोषणा होते ही आचार संहिता के लागू हो जाने से पीएम श्री मोदी की खोखली व हवाहवाई घोषणाओं व शाही खर्चों वाले इनके सरकारी शिलान्यास आदि प्रोग्रामों से देश को मुक्ति तो मिल जायेगी लेकिन जनता इनके अन्य हथकंडों से भी सावधान रहे।’


BY : Yogesh




Loading...




Loading...