राजनीति - अखिलेश बोल रहे CBI पर हमला, एजेंसी दे रही ब्योरा, ‘एक ही दिन में दी थी 13 खनन पट्टों को मंजूरी’

अखिलेश बोल रहे CBI पर हमला, एजेंसी दे रही ब्योरा, ‘एक ही दिन में दी थी 13 खनन पट्टों को मंजूरी’



Posted Date: 07 Jan 2019

49
View
         

लखनऊ। लगातार विपक्षी दलों से आलोचना झेल रही सीबीआई ने उत्तर प्रदेश अवैध खनन मामले की जांच में एक और खुलासा किया है। मामले का ब्यौरा देते हुए सीबीआई ने दावा किया है कि तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल के दौरान एक ही दिन में 13 खनन पट्टों को मंजूरी दी थी।

सीबीआई का दावा है कि अखिलेश यादव के पास खनन विभाग भी कुछ समय के लिए था। उन्होंने 14 खनन पट्टों को मंजूरी दी थी जिसमें 13 को 17 फरवरी 2013 को मंजूरी दी गई थी। ऐसा ई-टेंडरिंग प्रक्रिया का उल्लंघन करते हुए किया गया था।

एजेंसी ने दावा किया है कि 2012 की ई-टेंडर नीति का उल्लंघन करते हुए मुख्यमंत्री कार्यालय से मंजूरी हासिल करने के बाद 17 फरवरी को हमीरपुर की जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने खनन पट्टे दिये थे। उस नीति का 29 जनवरी 2013 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मंजूरी दी थी।

सीबीआई की ओर से मामले में सपा प्रमुख की भूमिका का यह ब्यौरा तब आया है जब वो और अन्य विपक्षी दल लगातार सीबीआई पर हमला बोल रहे हैं। इन दलों का केंद्र सरकार पर जांच एजेंसी को राजनीतिक फायदे के लिये दुरुपयोग करने का आरोप है। रविवार को लखनऊ में अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा विपक्षी दलों को धमकाने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है।

यह भी पढ़ें : ‘नीतीश बताएं पहले क्यों छोड़ा था भाजपा का साथ, क्या समस्याओं का हो गया समाधान?’ : तेजस्वी

सपा प्रमुख ने कहा कि, ‘अब हमें सीबीआई को बताना पड़ेगा कि गठबंधन में हमने कितनी सीटें वितरित की हैं। मुझे खुशी है कि कम से कम भाजपा ने अपना रंग दिखा दिया है। इससे पहले कांग्रेस ने हमें सीबीआई से मिलने का मौका दिया था और इस बार यह भाजपा है जिसने हमें यह अवसर दिया है।’

यह भी पढ़ें : बुआ-भतीजा के समर्थम में आई कांग्रेस, कहा- CBI की कार्रवाई सपा-बसपा गठबंधन को विफल करने का प्रयास

उन्होंने कहा कि, ‘समाजवादी पार्टी लोकसभा की अधिक से अधिक सीटें जीतने का प्रयास कर रही है। जो हमें रोकना चाहते हैं, उनके साथ सीबीआई है। एक बार कांग्रेस ने सीबीआई जांच कराई और मुझसे पूछताछ की गई थी। अगर भाजपा यह सब कर रही है तो सीबीआई मुझसे पूछताछ करेगी, मैं उसका जवाब दूंगा। लेकिन, लोग भाजपा को जवाब देने के लिये तैयार हैं।’

आपको बता दें कि सीबीआई ने आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला, समाजवादी पार्टी के विधान पार्षद रमेश कुमार मिश्रा और संजय दीक्षित समेत 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्जकर शनिवार को 14 स्थानों पर छापेमारी की थी।


BY : Yogesh