कारोबार - बंद होती जेट एयरवेज को अरब की एतिहाद का सहारा, मांगी 750 करोड़ की आकस्मिक मदद

बंद होती जेट एयरवेज को अरब की एतिहाद का सहारा, मांगी 750 करोड़ की आकस्मिक मदद



Posted Date: 12 Mar 2019

14
View
         

नई दिल्ली। भारतीय एयरलाइन्स कंपनी जेट एयरवेज इन दिनों गंभीर वित्तीय संकट से जूझ रही है। कंपनी का नकदी संकट इतना बड़ा है कि उसे अपने कई विमान खड़े करने पड़ गए हैं। अपने कर्मचारियों के वेतन भुगतान और ऋण भुगतान में देरी के कारण कंपनी पर लगातार कर्जा बढ़ता जा रहा है।

जेट एयरवेज को मुश्किल की घड़ी से उभारने के लिए खाड़ी की एयरलाइन्स कंपनी एतिहाद एयरवेज नें भारतीय कंपनी में निवेश करने का फैसला किया है। समाचार एजेंसी के मुताबिक एतिहाद एयरवेज जेट एयरवेज में 1,600 से 1,900 करोड़ रुपए का निवेश कर सकती है।  इस निवेश के बाद एतिहाद की जेट एयरवेज एयरलाइन में हिस्सेदारी बढ़कर 24.9 फीसदी हो जाएगी। अभी एतिहाद की हिस्सेदारी 24 फीसदी है।

इस निवेश के बाद जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल को कंपनी में अपने पद से इस्तीफा देना पड़ेगा। हालांकि वह एयरलाइन के निदेशक मंडल में दो व्यक्तियों को नामित कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक गोयल को एयरलाइन का चेयरमैन एमिरिटस नामित किया जा सकता है जबकि उनके बेटे निवान गोयल को कुछ शर्तों के साथ कोई उचित कार्यकारी पद दिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : शेयर बाजार : लगातार दूसरे दिन उछाल, सेंसेक्स 37000 के पार, निफ्टी में 0.57 फीसदी की तेजी

कंपनी को संकट में घिरता देख नरेश गोयल ने अपने सहयोगी एतिहाद से 750 करोड़ रुपए की आकस्मिक मदद मांगी। उन्होंने एतिहाद को एक पत्र लिखकर कहा है कि, ‘अगर मदद नहीं की गई तो जेट एयरवेज बंद हो जाएगी।’ उन्होंने कंपनी के नकदी संकट का हवाला देते हुए कहा कि कंपनी की हालत ठीक नहीं है। बता दें कि पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने से कंपनी को अपने 50 से ज्यादा विमानों को खड़ा करना पड़ा है।

यह भी पढ़ें : Elections 2019: चुनाव में 60 हजार करोड़ रुपए होंगे खर्च, भारत तोड़ सकता हैं अमेरिका का भी रिकॉर्ड!

बता दें कि 14 फरवरी को जेट एयरवेज के निदेशक मंडल ने कंपनी पर कर्ज का पुनर्गठन करने की योजना को हरी झंडी दे दी थी। इसके बाद कंपनी को कर्ज देने वाले बैंक सबसे बड़े हिस्सेदार बन जाएंगे। शेयरधारकों ने भी इस पुनर्गठन योजना को 21 फरवरी को मंजूर कर दिया।


BY : Yogesh




Loading...




Loading...