राष्ट्रीय - इन भारतीय मछुआरों को नोबल पुरस्कार देने की उठी मांग, इनकी बहादुरी जान आप भी करेंगे सलाम

इन भारतीय मछुआरों को नोबल पुरस्कार देने की उठी मांग, इनकी बहादुरी जान आप भी करेंगे सलाम



Posted Date: 07 Feb 2019

1945
View
         

तिरुवनंतपुरम। हर साल शांति के क्षेत्र में दिए जाने वाले नोबेल पुरस्कार के लिए इस बार उन भारतीय मछुआरों का भी नाम उठा है, जिन्होंने अपनी नौकाओं की परवाह किए बगैर दिन रात उन लोगों की जान बचाई, जो केरल में आई बाढ़ में फंसे हुए थे। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने नॉर्वे की नोबेल समिति के अध्यक्ष को पत्र लिखकर इन मछुआरों के नाम की अनुशंसा की है। बताते चलें कि कांग्रेस नेता शशि थरूर तिरुवनंतपुरम से सांसद हैं।

शशि थरूर ने अपने पत्र में लिखा है कि केरल के मछुआरों का समूह राज्य में आई त्रासदी के दौरान दिन रात अपनी जान की परवाह किए बिना यहां फंसे लोगों को बचाने में जुटा रहा। मछुआरों की मदद इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि उन्हें यहां के अंदरूनी इलाकों की भी जानकारी थी और उन्होंने यहां के आंतरिक क्षेत्रों में जाकर सभी को निकालने का काम किया है। उन्होंने कहा है कि केरल में चले राहत और बचाव कार्य में यहां के मछुआरों की हिस्सेदारी काफी लाभदायक साबित हुई है।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने ग्राहकों को दी बड़ी राहत, अब इस गड़बड़ी के लिए बैंक होंगे जिम्मेदार, जानिए क्या है नया नियम

थरूर के मुताबिक इन मछुआरों ने अपने आस पड़ोस में फंसे लोगों को न सिर्फ बचाया था, बल्कि यहां पर लगी बचाव टीमों की नौकाओं का मार्गदर्शन भी किया था। जिसकी वजह से राहत व बचाव कार्य में तेजी आ सकी थी। ऐसे में केरल आपदा के समय उनके सहयोग को कोई भी नजरअंदाज नहीं कर सकता है। बताते चलें कि केरल में बीते 29 मई से शुरू हुई मानसूनी बारिश के कारण भारी बाढ़ आई थी। जिसके कारण यहां पर 8.69 लाख लोगों का धन संपत्ति और घर सब तबाह हो गया था। जबकि कुल 417 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी।

यह भी पढ़ें : राहुल गांधी का भाजपा पर सीधा हमला, भरी सभा में पीएम मोदी पर की यह टिप्पणी


BY : Akhilesh Tiwari




Loading...




Loading...