राष्ट्रीय - दुनिया में बढ़ा भारत का कद, ISRO ने विदेशी धरती से बनाया नया कीर्तिमान

दुनिया में बढ़ा भारत का कद, ISRO ने विदेशी धरती से बनाया नया कीर्तिमान



Posted Date: 06 Feb 2019

2028
View
         

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन लगातार नई उपलब्धियां हासिल करता जा रहा है। जिसकी वजह से भारत का कद भी दुनिया के सामने बढ़ता जा रहा है। यही वजह है अब अमेरिका समेत कई देश अपने उपग्रह का प्रक्षेपण इसरो के माध्यम से ही करवा रहे हैं। वहीं अब एक बार फिर से इसरो ने एक नया कीर्तमान रचते हुए भारत का मान बढ़ाया है। दरअसल भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने यूरोपीय कंपनी एरियनस्पेस के एक प्रक्षेपण यान के जरिए अपने नवीनतम संचार उपग्रह का प्रक्षेपण किया है।

इसरो ने जीसैट-31 उपग्रह का प्रक्षेपण सफलतापूर्वक फ्रेंच गुयाना के स्पेसपोर्ट से किया है। यह प्रक्षेपण बुधवार सुबह 2.31 पर हुआ था। यह उपग्रह भारत की मुख्य भूमि और द्वीपों को अपनी सेवाएं प्रदान करेगा। यह देश का 40वां संचार उपग्रह है, जिसका वजन 2535 किलोग्राम है। यह उपग्रह अपने प्रक्षेपण के बाद लगभग 15 साल तक अपनी सेवा देगा। यह उपग्रह कक्षा के अंदर मौजूद कुछ उपग्रहों को परिचालन संबंधी सेवाओं के जारी रखने में उनकी मदद भी करेगा।

यह भी पढ़ें : राहुल गांधी को पसंद नहीं आया पीएम मोदी के लिए यह सम्मान, दे डाली इतनी बड़ी नसीहत

इसके साथ ही यह उपग्रह जियोस्टेशनरी कक्षा में केयू-बैंड ट्रांसपोंडर की क्षमता भी बढ़ाने में मदद करेगा। खबरों के मुताबिक इस उपग्रह को फ्रेंच गुयाना के कुरू में एरियन-5(वीए247) प्रक्षेपण यान के जरिए प्रक्षेपित किया गया है। जो कि भारतीय भू-भाग और द्वीप पर अपनी कवरेज प्रदान करेगा। एजेंसी के मुताबिक उपग्रह जीसैट-31 को इसरो के सबसे उन्नत I-2K बस पर स्थापित किया गया है।

यह भी पढ़ें : पर्रिकर का यह एक फैसला पड़ सकता है भारी, खड़ा हो सकता है राजनीतिक संकट


BY : Akhilesh Tiwari




Loading...




Loading...