राष्ट्रीय - कुंभ में दिखा अनोखा नजारा, दुनिया में हिंदू धर्म के प्रचार के लिए इन विदेशियों ने उठाया यह कदम

कुंभ में दिखा अनोखा नजारा, दुनिया में हिंदू धर्म के प्रचार के लिए इन विदेशियों ने उठाया यह कदम



Posted Date: 11 Feb 2019

3501
View
         

प्रयागराज। भारतीय संस्कृति की बात ही कुछ ऐसी ही है कि यहां आने वाला हर विदेशी नागरिक इसी में रम जाता है और बहुत कम ही होता है कि वह यहां से विदा ले। खासकर मथुरा का वृंदावन, अयोध्या, बनारस और प्रयागराज इन सभी जगह की मिट्टी में कुछ अलग ही बात है। यहां आने वाले ज्यादातर विदेशी पर्यटक अपना धर्म परिवर्तन कर भारतीय संस्कृति और धर्म के प्रचार में लग जाते हैं। इसका ताजा उदाहरण अभी प्रयागराज में चल रहे कुंभ में भी देखने को मिला है।

प्रयागराज में चल रहे कुंभ में 9 विदेशी पर्यटकों ने कुछ ऐसा किया है, जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है। दरअसल इन सभी विदेशियों को पट्टाभिषेक कर उन्हें महामंडलेश्वर की उपाधि दी गई है। इन सभी का पट्टाभिषेक निर्मोही अखाड़े के अंतर्गत किया गया है। इन सभी 9 विदेशी पर्यटकों में 3 विदेशी महिलाएं भी शामिल हैं। इन सभी विदेशी पर्यटकों को पहले तो अखाड़े के प्रमुख महामंडलेश्वरों ने दीक्षा दी और इसके बाद इनकी चादरपोशी की रस्म पूरी की गई। इस भव्य कार्यक्रम के दौरान अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें : वायुसेना में शामिल होने के लिए यह खास हेलीकॉप्टर पहुंचे भारत, ताकत जान उड़ जाएंगे दुश्मनों के होश

इन सभी विदेशी संतों में फ्रांस के एंडर मॉनोसमी उर्फ जयेंद्र दास, इजरायल के डारन शैनॉन उर्फ ध्यानानंद दास, यूएस के टेलर मैमुअल फ्रीडमैन, जोनाथन मिशेल, यूएस एरिजोना के पीटर, एलेक्जेंडर के साथ ही जापान की रक्यों उर्फ राजेश्वरी देवी, यूएस की जैमी एलीन उर्फ श्रीदेवी दासी और यूएस की ही लीला मारिया उर्फ ललिता श्रीदासी को दीक्षा प्रदान कर महामंडलेश्वर की पदवी प्रदान की गई है। यहां आने वालों का कहना है कि इस कार्यक्रम का नजारा ही कुछ अलग था, जब विदेशी इस तरह से भारतीय संस्कृति में रंग रहे थे।

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर : उरी आर्मी कैंप के पास दिखे संदिग्ध, फायरिंग के बाद सैन्य अलर्ट, सर्च ऑपरेशन जारी


BY : Akhilesh Tiwari




Loading...




Loading...