राजनीति - कांग्रेस के महागठबंधन वाले हाथ पर चढ़ा बसपा हाथी, कुचलकर तोड़ा सपना

कांग्रेस के महागठबंधन वाले हाथ पर चढ़ा बसपा हाथी, कुचलकर तोड़ा सपना



Posted Date: 12 Mar 2019

22
View
         

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का महागठबंधन का सपना टूटता नज़र आ रहा है। पहले सपा-बसपा गठबंधन ने बिना किसी शर्त के कांग्रेस के लिए दो सीटें छोड़ दी थीं। इससे ये अनुमान लगाया जाने लगा कि क्या कांग्रेस सपा-बसपा से अन्य किसी राज्य में भी गठबंधन कर सकती है?

अब इस अनुमान को मायावती ने ख़ारिज कर दिया है। उन्होंने लखनऊ में बीएसपी की अखिल भारतीय बैठक में मंगलवार को कहा कि बीएसपी कांग्रेस के साथ न सिर्फ उत्तर प्रदेश, बल्कि देश में कहीं भी गठबंधन नहीं करेगी। यह बैठक लोकसभा चुनाव की तैयारियों और पार्टी प्रत्याशियों के चयन पर चर्चा करने के लिए आयोजित की गई थी।

लोकसभा चुनाव का बिगुल बजने से पहले ही सपा-बसपा ने गठबंधन की घोषणा कर दी थी। दूसरे शब्दों में कहें तो सपा-बसपा ने ही गठबंधन की घोषणा कर लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंका था। इस गठबंधन में दोनों ने कांग्रेस को मुख्यरूप से शामिल नहीं किया था। हांलांकि अमेठी और रायबरेली में दोनों ने अपने प्रत्याक्षी न उतारने की घोषणी भी की थी।

यूपी में 80 में से 76 सीटों पर सपा-बसपा ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं। सपा-बसपा का गठबंधन बीच में हुए उपचुनावों के कारण अस्तित्व में आया था। इसमें फूलपुर, कैराना, गोरखपुर में उपचुनाव हुए थे। जहां पूर्व सांसद बीजेपी के थे लेकिन सपा-बसपा के उम्मीदवार ने चुनाव जीत लिया था। खुद सीएम योगी और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को अपनी सीट गंवानी पड़ी थी।

बता दें कि बीएसपी ने हाल ही में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस पार्टी के साथ चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। लेकिन चुनाव बाद तीन राज्यों (मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़) में बीएसपी ने कांग्रेस पार्टी को समर्थन दिया। इन तीनों राज्यों में कांग्रेस की सरकार है।


BY : Yogesh




Loading...




Loading...