आजमगढ़ - लोकसभा चुनाव 2019 : भतीजे को मात देने के लिए शिवपाल ने तैयार की रणनीति, अखिलेश के लिए कड़ी चुनौती

लोकसभा चुनाव 2019 : भतीजे को मात देने के लिए शिवपाल ने तैयार की रणनीति, अखिलेश के लिए कड़ी चुनौती



Posted Date: 07 Feb 2019

2131
View
         

आज़मगढ़। मुलायम सीट के संसदीय क्षेत्र से पूर्व सीएम अखिलेश यादव के चुनाव लड़ने की खबर है। ऐसे में अखिलेश यादव को अपने पिता की संसदीय सीट बचाने की चुनौती का सामना करना होगा और सबसे बड़ी चुनौती उनको अपने चाचा शिवपाल से हैं क्योंकि चाचा ने भतीजे को टक्कर देने का मन बना लिया है। शिवपाल की पार्टी ने साफ कर दिया है कि वह अखिलेश के खिलाफ अपना प्रत्याशी उतारेगी।

ऐसे में अखिलेश यादव भले ही गठबंधन कर जीत की राह देख रहे हों लेकिन इस सीट पर उनकी मुसीबत बढ़ सकती है क्योंकि शिवपाल सिंह की पार्टी का भी क्रेज़ जिले में भरपूर देखने को मिल रहा है। सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का गठन कर शिवपाल यादव एक तरफ जहां संगठन को मज़बूत बनाने में जुटे हैं वहीं उन्होंने प्रदेश की 79 सीटों पर प्रत्याशी उतारने की घोषणा कर दी है।

बीजेपी और गठबंधन को मात देने के लिए शिवपाल की पार्टी समान विचारधारा वाले दलों से गठबंधन का प्रयास भी कर रही है। दिलचस्प यह है कि सपा-बसपा के लोग जहां शिवपाल को बीजेपी की बी टीम बता रहे हैं वहीं शिवपाल की पार्टी दावा करती फिर रही है कि सपा-बसपा का गठबंधन बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए हुआ है। 

यह भी पढ़ें.. जिले में परिषदीय और माध्यमिक स्कूलों के बच्चों के आएंगे अच्छे दिन, गठित होगी बाल संसद

इसके पीछे पार्टी के प्रमुख महासचिव व पूर्व सांसद वीरपाल सिंह यादव कहते हैं कि क्या दस सीट जीतने वाले दल प्रधानमंत्री का विकल्प दे सकते हैं। अगर ये बीजेपी को हराना ही चाहते थे तो कांग्रेस और अन्य दलों को गठबंधन से बाहर क्यों किया। इससे साफ है कि यह केवल बीजेपी को फायदा पहुंचाना चाहते हैं।

उन्होंने साफ किया कि उनकी पार्टी बीजेपी को हराने के लिए कटिबद्ध है। पार्टी समान विचारधारा वाले दलों से गठबंधन का प्रयास कर रही है। कांग्रेस से भी गठबंधन की संभावना से उन्होंने इंकार नहीं किया और साफ किया कि अगर किन्हीं कारणों से गठबंधन नहीं होता है तो उनकी पार्टी सभी 80 सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी। अगर मुलायम सिंह यादव खुद चुनाव लड़ते हैं तो उनकी पार्टी सभी एक सीट पर उनका समर्थन करेगी बाकी 79 सीट पर लड़ेगी।

यह भी पढ़ें.. ‘इस बार छात्रों की पुकार-कब सुनेगी सरकार’, कहा- विश्वविद्यालय नहीं तो होगा वोट का बहिष्कार


BY : Saheefah Khan




Loading...




Loading...