राजनीति - नोएडा में PM : ‘हम सहेज रहे उन मंदिरों को जिन्हें लोगों ने बना रखा था बेडरूम, जिसे है मोदी से कष्ट, वो है भ्रष्ट’

नोएडा में PM : ‘हम सहेज रहे उन मंदिरों को जिन्हें लोगों ने बना रखा था बेडरूम, जिसे है मोदी से कष्ट, वो है भ्रष्ट’



Posted Date: 09 Mar 2019

177
View
         

लखनऊ। खबर लिखे जाने तक नरेंद्र मोदी ग्रेटर नोएडा में एक जनसभा को संबोधित कर चुके हैं। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेट्रो सुविधाओं का उद्घाटन करने के साथ-साथ अन्य योजनाएं का शिलान्यास व लोकार्पण कर रहे हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी एक जनसभा को संबोधित किया।

सबसे पहले पीएम मोदी नोएडा से सटे गाजियाबाद में थे। यहां उन्होंने दिलशाद गार्डेन न्यू बस अड्डा तक मेट्रो विस्तार का उद्घाटन किया। इसके साथ ही हिंडन सिविल एयरपोर्ट का उद्घाटन भी किया। इसके अलावा दिल्ली-मेरठ रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम का शिलान्यास भी किया।

माना जा रहा है कि यह चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले पीएम की आखिरी जनसभा हो सकती है। इसलिए इस जनसभा में वह कई घोषणाएं कर सकते हैं। पीएम मोदी का एक महीने के अंदर ग्रेटर नोएडा में यह दूसरा कार्यक्रम है। इससे पहले वह 11 फरवरी को पेट्रोटेक-2019 का उद्‌घाटन करने यहां आए थे।

गाजियाबाद के बाद पीएम नोएडा पहुंचे जहां उन्होंने दीनदयाल उपाध्याय पुरातत्व संस्थान का उद्घाटन किया। इसके बाद पीएम मोदी ने नोएडा सिटी सेंटर से लेकर नोएडा-62 होते हुए नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी तक मेट्रो का उद्घाटन किया। इसके साथ ही खुर्जा और बक्सर थर्मल पॉवर प्लांट का शिलान्यास किया।

प्रधानमंत्री से पहले मुख्यमंत्री ने जनसभा को संबोधित किया। सीएम ने कहा कि, ‘नामुमकिन मुमकिन इसलिए बना क्योंकि हमारे पास आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रूप में एक यशस्वी नेता, एक दूरदर्शितापूर्ण नेता है।’ उन्होंने कहा कि, ‘पं. दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, सौभाग्य योजना के माध्यम से हर गरीब के घर में बिजली देने और यूपी के सभी 75 जनपदों में जिला मुख्यालयों मे 24 घंटे, तहसील मुख्यालयों को 20 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे आपूर्ति सुनिश्चित कर रहे हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी जनसभा को संबोधित करने आए तो भीड़ ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगाने लगी। इस पर उन्होंने कहा कि, ‘आप यहां मोदी-मोदी कर रहे हैं और वहां कुछ लोगों की नींद हराम हो रही है। कभी नोएडा की पहचान सरकारी धन की लूट, अथॉरिटी और टेंडर में होने वाले नए नए खेल और जमीन घोटालों की वजह से बनी खबरों के कारण होती थी। आज नोएडा और ग्रेटर नोएडा की पहचान विकास की परियोजनाओं से है।’

पीएम ने कहा कि, ‘कभी छोटे सपने देखता नहीं हूं और कभी छोटा काम करता नहीं हूं. हमारा सपना है One World, One Sun और One Grid. उन्होंने कहा कि, ‘हमारे गौरवशाली देश के इतिहास में, जिसने सैकड़ो वर्ष तक गुलामी का कालखंड देखा, हमारी प्रचीन विरासत को नष्ट होते देखा है। इसके अध्ययन में आर्कोलोजी का बहुत महत्व है। वाराणसी में काशी विश्वनाथ के अगल-बगल जब मकान तोड़ रहे थे, तो मंदिर निकलने लगे। लोगों ने मंदिरों को घर बना दिया था। अपना बेडरूम बना दिया था। इनमें से 40 मंदिर कई सौ साल पहले के हैं। काशी विश्वनाथ में भोले बाबा के 40 से ज्यादा मंदिरों को लोग दबोच के बैठे थे। अब इन मंदिरों को सहेजा जा रहा है।’

पीएम ने कहा कि, ‘हमारी सरकार में लेने-देने वाली संस्कृति पर पूरी सख्ती के साथ निपटा जा रहा है और योजनाओं को संपूर्णता के साथ, सामान्य मानवी के हित में बनाया जा रहा है। इसी कारण हर भ्रष्ट को मोदी से कष्ट है और वो आज इस चौकीदार को गाली देने के कॉम्पटीशन में जुटे हैं।’

यह भी पढ़ें : 2019 चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में BJP की अहम बैठक आज, कई मंत्रियों की लगेगी क्लास!

उन्होंने कहा कि, ‘उरी के बाद हमसे सबूत मांग रहे थे। पुलवामा हमला हुआ तो भारत के वीरों ने जो काम किया ऐसा काम दशकों तक नहीं हुआ। हमारे वीरों ने आतंकियों को उनके घर में घुस के मारा है। भारत कभी नहीं भूल सकता कि 26 नवंबर, 2008 को मुंबई में पाकिस्तान से आए 10 आतंकियों ने आतंकी हमला किया था। सारे सबूत पाकिस्तान में बैठे आतंक के आकाओं की तरफ जा रहे थे, लेकिन भारत ने क्या किया, पाकिस्तान को कैसे जवाब दिया? खबरें तो ये भी हैं कि उस समय भी हमारी वायुसेना ने कहा था कि हमें खुली छूट दीजिए, लेकिन हमारे सुरक्षाबलों को छूट नहीं दी गई। मुंबई हमले के वक्त सेना का खून गर्म हो रहा था, दिल्ली में ठंडे बिस्तर में पड़ा था।’

यह भी पढ़ें : गुजरात में कांग्रेस से टूटा एक और विधायक, इस्तीफा देकर जवाहर चावड़ा भाजपा में शामिल

प्रधानमंत्री ने कहा कि, ‘याद करिए, साल 2010 में पुणे में एक बेकरी में बम धमाका हुआ, उसी साल वाराणसी में दशाश्वमेध घाट पर बम धमाका हुआ। साल 2011 में मुंबई में फिर आतंकी हमला हुआष। ओपेरा हाउस, जावेरी बाजार, दादर में बम फटे। दिल्ली हाईकोर्ट के सामने भी बम फटा। सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के बाद आतंक के आकाओं को समझ में आ गया है कि ये पुराना भारत नहीं है। देश के वीर जवान उन्हें जवाब दे रहे हैं, लेकिन इस देश के नागरिक के तौर पर सतर्क रहकर हमे भी अपना दायित्व निभाना है।’


BY : Yogesh




Loading...




Loading...