राष्ट्रीय - कुंभ : प्रयागराज के सामने टोक्यो और शंघाई भी पड़े फीके, इस मामले में बढ़ाया देश का गौरव

कुंभ : प्रयागराज के सामने टोक्यो और शंघाई भी पड़े फीके, इस मामले में बढ़ाया देश का गौरव



Posted Date: 05 Feb 2019

3619
View
         

ई दिल्ली। उत्तर प्रदेश  के प्रयागराज में चल रहे कुंभ में बीते सोमवार को अद्भुत नजारा देखने को मिला। दरअसल मौनी अमावस्या के अवसर पर कुछ ऐसा हुआ कि प्रयागराज ने इस मामले में दुनिया के जाने माने शहर टोक्यो, शंघाई, न्यूयॉर्क और दिल्ली को भी पिछाड़ दिया। बीते सोमवार को मौनी अमावस्या के मौके पर प्रयागराज आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में करोड़ों का इजाफा हुआ। इस मौके पर प्रयागराज एक दिन के लिए दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर बन गया।

बताते चलें कि मौनी अमावस्या के मौके पर बीते सोमवार को कुंभ में स्नान करने के लिए शाम 5 बजे तक 5 करोड़ लोग पहुंचे थे। जिसके साथ ही प्रयागराज एक दिन के लिए दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर बन गया। जिसके कारण टोक्यो, दिल्ली और शंघाई भी कुंभनगरी से पीछे रह गए। बताते चलें कि वर्तमान समय में दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर टोक्यो है। जिसकी कुल आबादी 3.81 करोड़ है। इसके बाद दिल्ली का नंबर है, जहां की कुल आबादी 2.64 करोड़ है।

श्रद्धालुओं से खचाखच भरा कुंभ

यह भी पढ़ें : CBI की याचिका पर SC में सुनवाई आज, क्या राजीव कुमार के खिलाफ सबूत पेश कर पाएगी जांच एजेंसी?

मौनी अमावस्या के दिन प्रयागराज ने इन शहरों को पीछे छोड़ते हुए दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर बनने का गौरव हासिल किया। जिसके कारण टोक्यो, दिल्ली, शंघाई और न्यूयॉर्क एक दिन के लिए प्रयागराज से पिछड़ गए। बीते सोमवार को यहां पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या टोक्यो की कुल आबादी से लगभग सवा करोड़ ज्यादा रही। वहीं मौनी अमावस्या के दिन प्रयागराज का नजारा यह था कि यहां पर श्रद्धालुओं के पैर रखने की भी जगह नहीं थी। संगम तक पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं को लगभग 5 से 10 किलोमीटर तक का सफर पैदल ही तय करना पड़ा।

यह भी पढ़ें : महिलाओं को मिलेंगे रोज़गार के समान अवसर, खदानों में नियुक्त होंगी महिलाएं लेकिन इन नियमों के साथ


BY : Ankit Rastogi




Loading...




Loading...