कारोबार - RBI को नहीं पता नोटबंदी में कितने पुराने नोट पेट्रोल पंपों से बैंकों में वापस आए

RBI को नहीं पता नोटबंदी में कितने पुराने नोट पेट्रोल पंपों से बैंकों में वापस आए



Posted Date: 10 Mar 2019

23
View
         

नई दिल्ली। 8 नवंबर 2016 को जैसे ही नोटबंदी की घोषणा हुई सभी पुराने 500-1000 के नोट लेकर दौड़ गए पेट्रोल पंप। क्योंकि पेट्रोल पंप उन कुछ जगहो में से था जहां उस समय फिलहाल कुछ समय के लिए पुराने नोट स्वीकार किए जा रहे थे।

ऐसे में बहुतायत संख्या में लोगों ने पुराने नोट पेट्रोल पंप पर खर्च कर दिए। वो नोट बैंक तो पहुंच गए लेकिन आरबीआई के लिए यह पता लगा पाना मुश्किल है कि नोटबंदी के बाद बैंक में वापस आई कुल राशि में से कितनी पेट्रोल पंप पर खर्च होकर आई है?

बैंक का कहना है कि उसके पास ऐसा कोई डाटा नहीं है जिससे यह पता लगाया जा सके कि नोटबंदी के दौरान पेट्रोल पंपों पर 500-1000 के कितने नोट खपाए गए थे। वहीं सूत्रों का कहना है कि नोटबंदी के बाद जो राशि बैंकों में लौटी, उसमें पेट्रोल पंपों पर खपाए गए नोटों की संख्या काफी ज्यादा थी।

नोटबंदी की घोषणा के बाद लोगों की आकस्मिक सुविधा के लिए पेट्रोल पंप और अन्य 23 सेवाओं के बदले पुराने नोट स्वीकार करने की घोषणा की गई थी। इनमें पेट्रोल पंप, अस्पताल, मेडिकल स्टोर, रेलवे और एयर पोर्ट की टिकटों की खरीदारी जैसी कुछ सेवाएं शामिल थीं।

यह भी पढ़ें : सिर्फ ब्यूटी प्रोडक्ट बेचकर 'फ्रांस्वा बेटनकोर्ट' बन गई दुनिया की सबसे अमीर महिला, इस कंपनी की हैं मालकिन

25 नवंबर को पुराने नोटों की अदला-बदली पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन इन 23 सेवाओं में नोटों का चलन 15 दिसंबर तक वैध माना गया था। हालांकि सरकार को खबर लगी कि इन सेवाओं की आड़ लेकर कुछ लोग अपना काला धन सफेद कर रहे हैं। सरकार ने 2 दिसंबर से ही इन 23 सेवाओं में पुराने नोटों के चलन पर पाबंदी लगा दी थी। 

यह भी पढ़ें : SBI का ग्राहकों को बड़ा तोहफा: अब से RBI द्वारा तय दर पर मिलेगा लोन व रिटर्न ब्याज

कुछ समय पहले आरबीआई ने रिपोर्ट जारी कर इस बात की जानकारी दी थी कि नोटबंदी के बाद लगभग बैंकों में लगभग सारे नोट वापस आ गए थे। नोटबंदी के वक्त 500 और 1000 रुपए के जितने पुराने नोट चलन में थे, उनमें से 99.30% जमा हो गए थे। नोटबंदी से पहले 500 और 1000 रुपए के 15.41 लाख करोड़ रुपए मूल्य के नोट सर्कुलेशन में थे। इनमें से 15.31 लाख करोड़ बैंकों के पास लौट आए।


BY : Yogesh




Loading...




Loading...