राष्ट्रीय - सरकारी बैंको के मर्जर की तैयारी में केंद्र, RBI को दिए ये ख़ास निर्देश

सरकारी बैंको के मर्जर की तैयारी में केंद्र, RBI को दिए ये ख़ास निर्देश



Posted Date: 30 Aug 2018

32
View
         

नई दिल्ली। केंद्र सरकार जल्द ही बैंकों के मर्जर की दिशा में अपना फरमान सुना सकती है। इसके लिए सरकार ने 21 सरकारी बैकों के मर्जर के लिए रिजर्व बैंक से एक लिस्ट तैयार करने को कहा है। इस लिहाज से ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही सरकार इस दिशा में अपना अंतिम फैसला सुना सकती है। दरअसल सरकार ने आरबीआई से मर्जर की लिस्ट बनाने के साथ कन्सॉलिडेशन का समय बताने के लिए भी कहा। ताकि आर्थिक संकट से झूझने के बाद बैंकों को उबारा जा सके और उन्हें सरकार पर निर्भर ना रहना पड़े।

खबरों के मुताबिक़ नाम न बताने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया कि इस महीने में हुई मीटिंग में वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने रिजर्व बैंक से कन्सॉलिडेशन का समय बताने के लिए भी कहा। उन्होंने कहा कि बैंकों के अच्छे नियमन के लिए ऐसा किया जा सकता है।

वहीं बैंक ऑफ बड़ौदा के चेयरमैन रवि वेंकटेशन ने पिछले महीने कहा था कि अगर बाजार में और नुकसान नहीं उठाना है तो सरकारी बैंकों का मर्जर जरूरी है।

यह भी पढ़ें : राफेल पर मचा घमासान, जेटली को राहुल के चैलेंज पर अमित शाह ने दिया ये जवाब

मौजूदा वित्त वर्ष में लगभग 70 प्रतिशत डिपॉजिट प्राइवेट बैंकों में जा चुका है। बैंकों की कमजोर बैंलेंस शीट की वजह से बैंकों की पूंजी सरकार पर निर्भर हो गई है।

बता दें दुनिया की 10 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में भारत का इटली के बाद दूसरा स्थान है जिसका बैड लोन अनुपात सबसे ज्यादा है। भारत कई सालों से इससे निपटने की कोशिश कर रहा है।

90 फीसदी NPA सरकारी बैंकों का है। 21 सरकारी बैंकों में से 11 RBI की निगरानी में इमर्जेंसी प्रोग्राम के तहत काम कर रहे हैं। उनपर नया कर्ज देने से रोक लगाई गई है।

यह भी पढ़ें : आतंक की जड़ें उखाड़ने के लिए पीएम मोदी ने किया इस हिन्दू राष्ट्र का रुख, 7 देशों के साथ होगी ये महत्वपूर्ण बैठक


BY : Ankit Rastogi


Loading...





Loading...
Loading...