अंतरराष्ट्रीय - आपके शरीर के तापमान को कंट्रोल करेगा यह कपड़ा, अब सर्दी और गर्मी में नहीं होगी बदलने की जरूरत

आपके शरीर के तापमान को कंट्रोल करेगा यह कपड़ा, अब सर्दी और गर्मी में नहीं होगी बदलने की जरूरत



Posted Date: 10 Feb 2019

4690
View
         

एन्नापोलिस। आज के समय में कोई भी काम असंभव नहीं है, क्योंकि विज्ञान आज बहुत ही ज्यादा उन्नत हो चुका है। हालांकि इसके कई फायदे हैं तो कई नुकसान भी हैं। क्योंकि विज्ञान की ही देन है कि मशीनों के ज्यादा से ज्यादा प्रयोग से इंसान शिथिल और आलसी होता जा रहा है। लेकिन इस बार मैरीलैंड यूनिवर्सिटी की टीम ने एक ऐसा कपड़ा तैयार किया है। जो आपको गर्मी के मौसम में ठंडी और ठंडी के मौसम में गर्मी का एहसास दिलाएगा।

यह कपड़ा इंसान के शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में मदद करेगा। जानकारी के मुताबिक इस कपड़े के इजाद होने के बाद अब इंसान को गर्मी और जाड़े के हिसाब से कपड़ों को बदलने की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि यह कपड़ा इंसान को हर मौसम में तापमान के हिसाब से शरीर को सुविधा देगा। यह कपड़ा दिखने में साधारण ऊन के कपड़े की तरह ही होता है।

इस कपड़े की खासियत यह है कि जब शरीर का तापमान गर्म होगा तो इसके नैनोट्यूब्स सिकुड़ जाएंगे। वहीं जब शरीर का तापमान ठंडा होगा तो इसके नैनोंट्यूब्स फैल जाएंगे। इस कपड़े की लागत लगभग 350 रुपए हो सकती है। आपको बता दें कि यह कोई पहली बार नहीं है, जब इस तरह के कपड़े बनाए गए हों। इससे पहले भी शरीर के तापमान के हिसाब से एडजस्ट होने वाले कपड़ों का अविष्कार हो चुका है।

यह भी पढ़ें : कांच की बनी समझकर खरीदी थी अंगूठी, 33 साल बाद हुए खुलासे ने कर दिया मालामाल

इस कपड़े को साधारण ऊन से ही बनाया गया है लेकिन इसके ऊपर नैनोंट्यूब्स से कोटिंग की गई है। जिसके जरिए यह कपड़ा मौसम के हिसाब से एडजस्ट होकर इंसान के शरीर को आराम देगा।  आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि इसके नैनोट्यूब्स खास तरह के कार्बन आधारित धातु से बने हैं और यह इंसान के शरीर पर मौजूद बाल से भी हजार गुना पतले हैं। इस कपड़े को बनाने वाली टीम का दावा है कि यह इंसान के शरीर के तापमान को लगभग 35 प्रतिशत तक कंट्रोल करेगा और बाजार में मौजूद इस तरह के अन्य कपड़ों से इसकी कीमत भी कम होगी।

यह भी पढ़ें : ये है दुनिया की सबसे छोटी शादी, जानिए क्यों कुबूल है कहने के तुरंत बाद ही दुल्हन ने दे दिया तलाक


BY : Akhilesh Tiwari




Loading...




Loading...