अंतरराष्ट्रीय - GOOGLE की इस हरकत पर भड़के ट्रंप, बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी... कभी बताया था महान कंपनी

GOOGLE की इस हरकत पर भड़के ट्रंप, बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी... कभी बताया था महान कंपनी



Posted Date: 29 Aug 2018

16
View
         

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आये दिन अपनी तुनक मिजाजी और अल्लहड़ प्रकृति के चलते चर्चा में बने रहते हैं। वहीं ताजा मामले में खबर है ट्रंप इन दिनों दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल से खासे नाराज हैं। ऐसे में ट्रंप और गूगल के बीच की तनातनी एक बड़ा बवाल बनकर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि ट्रंप कंपनी पर कार्रवाई करने का मन भी बना रहे हैं। ट्रंप का आरोप है कि गूगल जानबूझकर उनकी छवि बिगाड़ने का काम कर रही है।

उनका कहना है कि जब से उन्होंने राष्ट्रपति पद संभाला है, गूगल उनके खिलाफ केवल नकारात्मक खबरों को टॉप लिस्ट में दिखाने का काम कर रहा है। वहीं अपनी इस नाराजगी के चलते उन्होंने गूगल से भी प्रश्न किया है कि आखिर अंग्रेजी में IDIOT लिखने पर उनकी फोटो क्यों दिखाई देती है।

खबरों के मुताबिक़ अमेरिकी वेबसाइट यूएसए टुडे के मुताबिक अगर गूगल पर इडियट ढूंढते हैं तो सबसे पहले डोनाल्ड ट्रंप की तस्वीर सामने आती है। इसके चलते पहले से ही काफी बवाल हो चुका है। अपने टि्वटर पोस्ट में मंगलवार को ट्रंप ने लिखा, ‘‘ट्रंप लिखने पर गूगल सर्च रिजल्ट में सिर्फ मेरे खिलाफ नकारात्मक खबरें दिखती हैं। यह फेक न्यू मीडिया है। दूसरे शब्दों में कंपनी मेरे और अन्य लोगों के खिलाफ हेराफेरी कर रही है, जिसमें अधिकांश खबरें नकारात्मक हैं। इनमें नकली सीएनएन सबसे अहम है। रिपब्लिकन/ कंजरवेटिव और निष्पक्ष मीडिया सब खत्म हो चुके हैं। ये सब अवैध हैं?

यह भी पढ़ें : दोस्ती का हाथ बढ़ाकर खंजर घोपने की तैयारी में इमरान सरकार, भारत के खिलाफ उठाया ये बड़ा कदम

दूसरे ट्वीट में ट्रंप ने कहा कि 96% से भी अधिक ट्रंप न्यूज के सर्च रिजल्ट में राष्ट्रीय वामपंथी मीडिया का हाथ है, जो काफी खतरनाक है। गूगल और अन्य कंपनियां कंजरवेटिव की आवाज दबा रहे हैं और खबरों को छिपा रहे हैं। यह अच्छी बात है। ये लोग उन चीजों को नियंत्रित कर रहे हैं, जिन्हें हम देख भी सकते हैं और नहीं भी। यह काफी गंभीर बात है, जिस पर गौर किया जाएगा।

वहीं यदि बीती बातों पर गौर किया जाए तो जुलाई 2018 में ट्रंप ने गूगल को ना केवल अमेरिका की महान कंपनी बताया था, बल्कि मोबाइल फोन ऑपरेटिंग सिस्टम को लेकर गूगल के खिलाफ पांच अरब डॉलर का जुर्माना लगाने पर ट्रंप आग-बबूला हो उठे थे।

यह भी पढ़ें : UN ने ICC को सौंपी ‘रोहिंग्या नरसंहार’ की रिपोर्ट, सैन्य अधिकारियों पर चलेगा हत्या और यौन शोषण का मामला


BY : Ankit Rastogi


Loading...





Loading...
Loading...